मध्‍य प्रदेश में तीन चरणों में कराए जाएंगे पंचायत चुनाव, जल्द आयोग चुनाव की घोषणा करेगा


स्टोरी हाइलाइट्स

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है. अब त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराने में कोई दिक्कत नहीं है.

मध्‍य प्रदेश में तीन चरणों में कराए जाएंगे पंचायत चुनाव, जल्द आयोग चुनाव की घोषणा करेगा



भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है. अब त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराने में कोई दिक्कत नहीं है. हमारे स्तर पर तैयारी चल रही है. चुनाव तीन चरणों में होंगे. जिला प्रशासन सभी मतदान केन्द्रों के वास्तविक सत्यापन के साथ ही संवेदनशील एवं अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों की सूची तत्काल भेंजे. मतदान केंद्रों की ओर जाने वाली सड़कों की मरम्मत की जानी चाहिए जो उपयुक्त नहीं हैं. ये निर्देश राज्य चुनाव आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने गुरुवार को जिलाधिकारी को दिए. वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे.

उन्होंने जिलाधिकारी से चुनाव की तैयारियों की जानकारी भी ली. उन्होंने कहा कि जिन मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या 750 से अधिक है, वहां अतिरिक्त मतदान कर्मियों को तैनात किया जाना चाहिए. मतदान कर्मियों को चिन्हित कर प्रशिक्षण देने का काम शुरू हो. यह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के संचालन से चुनाव प्रक्रिया से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करे. जिला एवं जनपद पंचायत के सदस्यों का चुनाव ईवीएम से तथा सरपंच एवं पंचायत का चुनाव मतपत्र से होगा. कलेक्टर द्वारा मतदान केन्द्रों का प्रत्यक्ष निरीक्षण होंगा. यदि किसी केंद्र को स्थानांतरित करना है तो उसका प्रस्ताव औचित्य के साथ भेजा जाना चाहिए. मतदान केन्द्र में अभी से विद्युत आपूर्ति आदि सुनिश्चित की जाये. पंचायतों में रिक्त पदों को मार्च 2022 तक भरा जाएगा.

खंडवा संसदीय क्षेत्र समेत पृथ्वीपुर, जोबट और रायगांव विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के बाद जिला पंचायत पदों के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद है. इसके बाद राज्य चुनाव आयोग चुनाव की घोषणा करेगा. चुनाव 1 जनवरी, 2021 की मतदाता सूची के आधार पर होंगे. बैठक में खंडवा, खरगोन, देवास, बुरहानपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी और सतना जिले के जिला कलेक्टर मौजूद नहीं थे.

रिटर्निंग ऑफिसर की नियुक्ति :

उन्होंने जिला कलेक्टर को जल्द से जल्द रिटर्निंग और सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए. जिला मुख्यालय, जनपद पंचायत सदस्यों के प्रखंड मुख्यालय एवं सरपंच एवं पंचों के समूह बनाकर जिला पंचायत सदस्यों के आवेदन लिये जायेंगे. 10 से 15 पंचायतों का समूह बनाया जाए. सेक्टर और जोनल अधिकारी बनाकर उन्हें विशेष कार्यकारी मजिस्ट्रेट के साथ सशक्त बनाने के प्रस्ताव भेजें. नामांकन भी ऑनलाइन स्वीकार किए जाने चाहिए.
लोकेश राजपूत

लोकेश राजपूत