किसान आंदोलन के चलते बंद सड़क को खोलने की मांग पर SC ने नहीं दिया कोई आदेश, 7 दिसंबर कों अगली सुनवाई


स्टोरी हाइलाइट्स

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर कों काफी लंबे समय से बंद करे रखा है.

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर कों काफी लंबे समय से बंद करके रखा है. आपकों बता दे कि, आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसानों को विरोध करने का अधिकार है लेकिन सड़कों को अनिश्चित काल तक अवरुद्ध नहीं किया जा सकता. साथ ही अदालत ने आज सड़कों से विरोध कर रहे किसानों को हटाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए किसान नेताओं से जवाब दाखिल करने को कहा है और साथ ही मामले की अगली सुनवाई 7 दिसंबर को रखीं गई है. 
 
 
जानकारी के अनुसार सड़क खोलने का मामला सुप्रीम कोर्ट में जाने के बाद आज किसान नेता राकेश टिकेट ने कहा कि, हमनें यहाँ पर कोई सड़क जाम नहीं की है, बल्कि सरकार ने यहाँ पर पुलिस लगाकर पूरे इलाके कों बंद करने का कम किया है. हम तो सरकार से मांग करते है कि हमें दिल्ली में आंदोलन करने की अनुमति प्रदान करें. 
लोकेश राजपूत

लोकेश राजपूत