आग बुझाते वनरक्षक की हालात बिगड़ी, सोमवार अल-सुबह मौत: गणेश पाण्डेय

आग बुझाते वनरक्षक की हालात बिगड़ी, सोमवार अल-सुबह मौत

मृतक के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति देने की पहल

-गणेश पाण्डेय
GANESH PANDEY 2भोपाल. डेढ़ दशक बाद प्रदेश के जंगल आगजनी के चपेट में आते जा रहे हैं. जंगलों को खाक होने से बचाने के लिए एक वनरक्षक के प्राण तक चले गए. जिस वनरक्षक की मौत हुई उसे लोग फायर फाइटर के नाम से जानते थे. मृतक के परिजनों के प्रति संवेदना जताते हुए उत्तर वन मंडल के डीएफओ बृजेंद्र श्रीवास्तव ने अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने का प्रस्ताव मुख्य वन संरक्षक बालाघाट की ओर अग्रेषित किया है.

आगजनी की घटना 5 अप्रैल की है और फायर फाइटर वनरक्षक सूर्य प्रकाश ऐड़े की मौत सोमवार अलसुबह 3:00 बजे करीब के करीब हुई. उत्तर बालाघाट से मिली जानकारी के अनुसार 5 अप्रैल को पूर्व बैहर के जंगलों में भीषण आग लगी थी. आगजनी की सूचना मिलते ही वनरक्षक सूर्य प्रकाश ऐड़े विभाग के अमले के साथ घटनास्थल पर पहुंचे. आग बुझाते हुए वनरक्षक सूर्य प्रकाश झूलस गए थे. 

बांधव गढ़ जंगल
आग की धुआं ने उनके फेफड़े को बुरी तरह से जकड़ लिया था. इसके कारण वह बीमार हो गए. सांस लेने में तकलीफ होने लगी और लगातार खांसने लगे थे. सूर्य प्रकाश ने पहले तो देसी पद्धति से इलाज कराया. जब हालत बिगड़ी तो 11 अप्रैल को जिला अस्पताल बालाघाट में भर्ती हुए. उपचार के दौरान सोमवार अल-सुबह उनकी मौत हो गई. मौत के बाद विभाग की ओर से मिलने वाला तत्कालिक आर्थिक मदद मृतक के परिजनों को अभी तक नहीं दी गई. उत्तर वन मंडल के कर्मचारी अधिकारियों ने व्यक्तिगत तौर पर मृतक के परिजनों को आर्थिक मदद की.

*मौत की असल वजह पर पर्दा डालने में लगे अफसर

उत्तर वनमंडल के अधिकांश कर्मचारियों का मानना है कि वनरक्षक सूर्य प्रकाश को पूरे क्षेत्र में फायर फाइटर के नाम से जाना जाता था. उसकी मौत भी आग बुझाने की वजह से हुई है. वन कर्मचारी नेता बुधराज बताते हैं कि मुख्य वन संरक्षक एवं वन मंडल अधिकारी मौत की असल वजह पर लीपापोती करने में लगे हैं. बुधराज का आरोप है कि फील्ड के अधिकारी यह साबित करने में जुटे हुए हैं कि वनरक्षक की मौत आग में झुलसने के कारण नहीं हुई, बल्कि उनकी आंतरिक बीमारी के वजह से मौत हुई है. अधिकारी वनरक्षक की मौत को कोरोना से जोड़ कर देख रहे हैं.

इनका कहना है

वनरक्षक की मौत कैसे हुई ?, इसका खुलासा पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही होगा. आगजनी की घटना तो 5 अप्रैल को हुई थी और वनरक्षक की मौत सोमवार सुबह 3:00 बजे हुई है. वनरक्षक स्कूल प्रकाश अन्य बीमारी से भी ग्रसित बताए जा रहे थे. मृतक के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं.
बृजेंद्र श्रीवास्तव, डीएफओ बालाघाट उत्तर

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ