पांच राज्यों में चुनाव के बाद मोदी कैबिनेट में नए चेहरे को मिल सकता है मौका

पांच राज्यों में चुनाव के बाद मोदी कैबिनेट में नए चेहरे को मिल सकता है मौका

अगले तीन दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल का विस्तार होने की उम्मीद है। कैबिनेट विस्तार से कई मंत्रियों को बर्खास्त किया जा सकता है जिन्होंने खराब प्रदर्शन किया है। अगले साल पांच राज्यों में होने वाले चुनाव से पहले नए चेहरों को मौका मिल सकता है। केंद्र में 21 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं और वर्तमान में सरकार में 4 मंत्री हैं, यानी 6 मंत्री शामिल किए जा सकते हैं. आधा दर्जन कैबिनेट मंत्रियों के पास एक से अधिक मंत्रालय की जिम्मेदारी है। प्रधानमंत्री अपनी जिम्मेदारियों को कम करने पर विचार कर रहे हैं।

वर्तमान में मोदी सरकार में नौ मंत्री हैं जिनके पास एक से अधिक विभाग हैं, जिनमें प्रकाश जावड़ेकर, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी, हर्षवर्धन, नरेंद्र सिंह तोमर, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी और हरदीप सिंह पुरी शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, मोदी कैबिनेट में दो साल में बड़ा फेरबदल होगा, जिसमें खराब प्रदर्शन करने वाले कई मंत्रियों को बर्खास्त करना भी शामिल है। सूत्रों के मुताबिक कैबिनेट के 30% चेहरे बदल सकते हैं। कैबिनेट में अभी 21 मंत्री हैं, जो बढ़ भी सकते हैं। इसके अलावा नौ स्वतंत्र प्रभारी हैं जबकि चार राज्य मंत्री हैं। इनकी संख्या भी बढ़ सकती है।

Pm Modi
संभावित मंत्रियों में सर्वानंद सोनोवाल और ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं। उत्तर प्रदेश में चुनाव के साथ, वहां से पांच मंत्री बनने की संभावना है, जिनमें वरुण गांधी, रामशंकर कथिरिया, रीता बहुगुणा जोशी, अनिल जैन और जफर इस्लाम शामिल हैं।

मोदी कैबिनेट में फेरबदल की तैयारी कर रहे भाजपा नेताओं में उत्तराखंड से अजय भट्ट या अनिल बलूनी, कर्नाटक से प्रताप सिन्हा, पश्चिम बंगाल से जगन्नाथ सरकार, शांतनु ठाकुर या निसिथ प्रमाणिक, हरियाणा से ब्रजेंद्र सिंह, राजस्थान से राहुल कस्वां भी शामिल हैं। विचार - विमर्श किया जा रहा है। संभावित मंत्रियों की सूची में दिल्ली से परवेश वर्मा या मीनाक्षी लेखी भी शामिल हो सकते हैं।

नीतीश कुमार की जद (यू) में अभी भी मोदी कैबिनेट में एक सीट के लिए होड़ है। दरअसल, जदयू भी बीजेपी के बराबर हिस्सेदारी चाहती है। बिहार से बीजेपी के पांच मंत्री हो सकते हैं। बाहर से सरकार का समर्थन करने वाला जदयू अगर राजी होता है तो लल्लन सिंह, रामनाथ ठाकुर और संतोष कुशवाहा को मंत्री पद दिए जाने की संभावना है। लोजपा के पशुपति पारस को केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है। उनकी पार्टी से अनुप्रिया पटेल, सुशील मोदी, नारायण राणे और भूपेंद्र यादव के नामों पर भी चर्चा हो रही है।

 

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ