आंवले के व्यंजन: आंवला पापड़, आंवले का शरबत, आंवला अमृत बॉल्स,आंवला पेठा बॉल्स, आंवले की सब्जी बनाने की विधि

आंवले के व्यंजन : आंवला पापड़, आंवले का शरबत, आंवला अमृत बॉल्स,आंवला पेठा बॉल्स, आंवले की सब्जी बनाने की विधि
आंवला सेहत की दृष्टि से बेहद लाभप्रद है। विटामिन 'सी' से भरपूर आंवला पाचन तंत्र से लेकर स्मरण शक्ति को दुरुस्त रखने की ताकत रखता है। इस समय बाजार में आंवले की आवक भी शुरू हो ही जाती है। सर्दियों में तो आंवले का सेवन रामबाण औषधि की तरह है। 

आंवला नवमी को विशेष रूप से आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है और किसी भी रूप में आंवले के सेवन को अच्छा माना जाता है। तो फिर आप भी बनाइए आंवले की नई-नई रेसिपीज|

ये भी पढ़ें.. बारिश में बनाए स्वीट कॉर्न चाट रेसिपी, कई पोषक तत्वों से  है भरपूर ..

आंवले के व्यंजन 

आंवला पापड़


सामग्री:- 25 से 30 आंवले, शकर आवश्यकतानुसार, 1/2 चम्मच सेंधा नमक, दो चुटकी मीठा पीला रंग।

विधि:- आवलों को धोकर उबाल लें। इन्हें ठंडा कर बीज अलग कर लें। फिर इन आंवलों को मिक्सर में पानी के साथ बारीक पीसें। फिर इसे छान ले ताकि उसमें से रेशे अलग हो जाएं। छने हुए पेस्ट का प्रयोग पापड़ बनाने में किया जाता है। 

ये भी पढ़ें.. नीर दोसा रेसिपी

अब इस पेस्ट को कड़ाही में डालें और बराबर मात्रा में शकर भी मिलाएं और लगातार चलाती रहें। बीच में नमक और मीठा-पीला रंग भी डाल दें। जब लगने लगे कि यह मिश्रण जमने की स्थिति में है तब इसे चिकनाई लगी थाली में डालकर जमने दें। जम जाने पर इसे एक बराबर साइज में काट लें। यह भी काफी दिनों तक खराब नहीं होते।

आंवले का शरबत


सामग्री:- 250 ग्राम आंवले, 100 ग्राम चीनी, 1 चम्मच जीरा पावडर, 1 चम्मच अजवाइन, 2 चम्मच सेंधा नमक, 1/2 चम्मच काली मिर्च पाउडर। 

विधि:- सबसे पहले सभी आंवलों को भाप से पका लें। फिर इसमें चीनी मिलाकर बड़ी परात में फैलाकर रखें। धीरे-धीरे चीनी पानी छोड़ती जाएगी। इसे एक बॉटल में भरकर रख लें। यह आंवले के शरबत का काम करता है। इसे पानी में घोलकर कभी भी पिया जा सकता है।

ये भी पढ़ें.. दाल बाटी बनाने की विधि-दाल बाटी रेसिपी 

जब परात में फैले हुए आंवले सूखने लगें तो इसमें नमक व सभी मसाले डालकर अच्छी तरह मिला लें और फिर से सूखने दें। कम से कम चार-पांच दिन धूप में भी रखें। इससे आवले अच्छी तरह सूख जाएंगे और कैडी का रूप ले लेंगे। इस चटपटी आवला कैडी को डिब्बे में भरकर रख लें और जब चाहे तब खाए।

आंवला अमृत बॉल्स 


सामग्री:- 300 ग्राम आंवला, 250 ग्राम किसा हुआ पेठा, 50 ग्राम कटे हुए महीन ड्रायफ्रूट, 50 ग्राम गुलाब कतरी। 

विधि:- आंवले को किस लें। एक पतीली में थोड़ा सा पानी गर्म करके छलनी में किसा आंवला रखकर ढंक दें। 5 मिनट इन आंवलों को भाप में ही पकने दें। इसके बाद उतारकर सुखा लें। फिर आंवले में सभी सामग्री मिलाकर एकसार कर लें। तैयार मिश्रण की छोटी-छोटी गोलियां बनाकर प्रत्येक गोली के बीच में गुलाब कतरी रखकर दोबारा गोलाई दें। आंवला अमृत बॉल्स तैयार हैं।

ये भी पढ़ें.. वेजिटेबल बिरयानी रेसिपी

आंवला पेठा बॉल्स


सामग्री:- 500 ग्राम उबले आवले गुटली निकले हुए, 3 चम्मच सरसों का तेल, 4 हरी मिर्च, 1/2 चम्मच हल्दी पावडर, लाल मिर्च पावडर और नमक स्वादानुसार, 1-2 छोटा चम्मच मैथी दाना, राई, सौंफ, कलौंजी।

विधि:- कड़ाही में तेल गर्म करके उसमें साबुत मसाले डालकर तड़का लगाकर आंवले की फाके हल्दी, नमक व हरी व लाल मिर्च डालकर धीमी आंच पर ढंककर पकाएं। 10 मिनट बाद आंच से उतार लें। छींके हुए आंवले 10-12 दिन तक अच्छे रहते हैं। इसे चावल, रोटी-पराठे के साथ खाएं और मेहमानों को भी खिलाए।

ये भी पढ़ें.. दही पापड़ी चाट रेसिपी की सामग्री

आंवले की सब्जी 


सामग्री:- 500 ग्राम आंवला, 2 चम्मच तेल, मिर्च, 1 छोटी चम्मच मैथी पावडर, 1/2-1 चम्मच सौंफ, 1/2 चम्मच राई, 5-6 लाल सूखी चम्मच हल्दी, 2 चम्मच धनिया पावडर, 2 चम्मच लाल मिर्च पावडर, नमक स्वादानुसार, 8-10 कढी पत्ते, 2 चम्मच हरा धनिया, 1/4 कटोरी गुड़। 

विधि:- सबसे पहले आंवले को उबालें। उबलने के बाद गुठलियां निकालकर उसमें तेल, राई, सौंफ, सूखी मिर्च, मैथी पावडर, कढी पत्ते, हल्दी डालकर एक साथ भून ले। फिर उसमें उबला आंवला काटकर डाल दें। फिर उसे चलाते रहें। चलाने के बाद उसमें धनिया पावडर, लाल मिर्च पावडर, नमक और गुड़ डालकर 5 मिनट और पका लें। फिर इसे सर्विंग बाउल में निकालकर धनिया पत्ती से गार्निश करें। आंवले की सब्जी रोटी. पराठे, चावल के साथ अच्छी लगती है।

ये भी पढ़ें.. गाजर के हलवे की आसान रेसिपी


EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ