ऑस्ट्रेलिया: मेलबर्न में बृहदेश्वर मंदिर की तर्ज पर ग्रेनाइट से बना सबसे ऊंचा मंदिर

मेलबर्न में श्री वक्रतुंड मंदिर, जो ग्रेनाइट से निर्मित, भारत के बाहर दक्षिणी गोलार्ध का एकमात्र मंदिर है। भगवान गणेश के इस मंदिर को हाल ही में एक नए रूप में फिर से खोला गया। यह मंदिर तंजावुर में विश्व धरोहर बृहदेश्वर मंदिर पर आधारित है।

Melbourn Shree Ganesh Temple Newspuran

 

मंदिर समिति के अध्यक्ष बाला कांडिया ने कहा कि मंदिर का निर्माण पिछले साल जून में पूरा तरह से तैयार होने वाला था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया। इसके लिए 20 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। गणेश मंदिर के अलावा, अन्य देवताओं के 11 मंदिर भी यहां बनाए गए हैं।

श्री वक्रतुंड विनयगर मंदिर की प्रबंध समिति के अध्यक्ष बाला कांडिया ने पहले कहा था कि, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में शरण ली, चूंकि मेलबर्न में कोई दक्षिण भारतीय मंदिर नहीं है, इसलिए उन्होंने यहाँ मंदिर बनाने का फैसला किया। लेकिन किसी के पास पैसे नहीं थे। मंदिर के वर्तमान सचिव शान पिल्लई द्वारा मूर्ति तमिलनाडु से लाई गई थी। दान बाद में प्राप्त हुआ। 1990 में मेलबर्न के पूर्वी हिस्से में जमीन खरीदी गई थी। मंदिर की आधारशिला 1991 में कांचीपुरम के शंकराचार्य द्वारा दान की गई ईंटों से रखी गई थी।

350 टन ग्रेनाइट का उपयोग

  1. सबसे छोटे पत्थर का वजन 250 किलोग्राम, सबसे भारी 6 टन
  2. तमिलनाडु के महाबलीपुरम के 100 मूर्तिकारों ने ग्रेनाइट को उकेरा, फिर ऑस्ट्रेलिया के लिए भेजा गया ।
  3. IIT मद्रास के प्रोफेसर अरुण और चेन्नई के उमा नरसिम्हन ने डिजाइन पर सहयोग किया।

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ