भोपाल: 10 जून छोला विश्राम घाट पर 12 जून से होगा रामवन का शुभारंभ

भोपाल 10 जून छोला विश्राम घाट पर 12 जून से होगा रामवन का शुभारंभ

जापानी तकनीक से एक लाख वर्गफीट में लगेंगे 35 हजार पौधे

भोपाल. छोला विश्राम घाट पर श्री विश्राम घाट ट्रस्ट द्वारा रामवन की स्थापना का निर्णय लिया गया है। इसमें जापानी तकनीक मियावाकी से एक लाख वर्गफीट जगह में 35 हजार पौधे लगाए जाएंगे। ट्रस्ट के अध्यक्ष रमेश शर्मा (गुड्डू भैया) ने बताया कि इन पौधों को रोपने का कार्य दो चरणों में पूरा होगा। पहला चरण 12 और 13 जून को विश्राम घाट पर आयोजित किया जा रहा है। जिसमें 6500 पौधे रोपे जाएंगे। पौधारोपण सुबह 10 बजे से शुरू होकर शाम 5 बजे तक चलेगा। 

इस बीच आप कभी भी विश्राम घाट पहुंचकर अपने पूर्वजों की याद में या जन्मदिन, मैरिज एनिवर्सरी ओर अन्य खुशी के मौके पर भी पौधा लगा कर उस मौके को यादगार बना सकते हैं। इसके बाद अगले चरण में शेष बचे 28500 पौधे लगाने का काम होगा। महामंत्री प्रमोद चुग (मोदी) ने बताया कि यह पहला अवसर है जब किसी विश्रामघाट पर इस तकनीक से पौधरोपण किए जाने की तैयारी चल रही है। इससे परिसर में आने वाले 3 सालों में एक डेंस फॉरेस्ट विकसित हो जाएगा। पौधारोपण के दौरान यहां 56 प्रजातियों के पौधे लगाए जाएंगे। 

Miyawaki Technology

पौधरोपण में अंतिम संस्कार के बाद एकत्रित राख का उपयोग खाद के रूप में किया जाएगा। यहां अंतिम संस्कार में गोकाष्ट का उपयोग होता है, जो पौधों के लिए लाभदायक होगा। ट्रस्ट की ओर से उपाध्यक्ष त्रिभुवन दास मेहता व बंसीलाल जी, उपमंत्री नेमीचंद जैन, कोषाध्यक्ष टीआर मिश्रा, कार्यकारिणी सदस्यों में ट्रस्टी हेमंत अजमेरा, मुरली हरवानी, त्र्यंबक गाडगिल, उमाशंकर गुप्ता व ट्रस्ट के संरक्षक राम अवतार गुप्ता जी ने लोगों से इस पावन कार्य में सहयोग की अपील की।

मियावाकी तकनीक के फायदे

जापान के अकीरा मियावाकी द्वारा इजात की गई इस तकनीक में 2 फीट चौड़ी और 30 फीट पट्टी में 100 से भी अधिक पौधे रोपे जा सकते हैं। पौधे पास-पास लगने से मौसम की मार का असर नहीं पड़ता है। गर्मी के दिनों में भी पौधे के पत्ते हरे बने रहते हैं। पौधों की ग्रोथ दोगुनी गति से होती है।

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ