सितंबर में हिन्दुस्तान को मिलेगा स्विस बैंक में जमा काले धन के डिटेल का तीसरा सेट, रियल एस्‍टेट की इनफार्मेशन पहली बार मिलेंगी

काले धन के खिलाफ बड़ा कदम: 

 

हिन्दुस्तान सरकार को सितंबर में स्विट्जरलैंड के साथ सूचना के स्वतः आदान-प्रदान के समझौते के तहत स्विस बैंक अकाउंट डिटेल/जानकारी का तीसरा सेट मिलेगा। इस इनफार्मेशन  में पहली बार भारतीयों के मालिकाना अचल संपत्ति की  डिटेल्ड जानकारी भी शामिल होगी।

पिछले 2 वर्षों में लगभग 30 लाख खाते की जानकारी, इस साल यह आंकड़ा और भी अधिक हो सकता है।

इस महीने भारत को स्विस बैंक खाते के विवरण का तीसरा सेट मिलेगा। सूचना के स्वचालित आदान-प्रदान समझौते के तहत, स्विस बैंक ऑफ इंडिया पहली बार भारतीयों के स्वामित्व वाली अचल संपत्ति पर डेटा सहित भारत सरकार को भारतीय खाताधारकों की जानकारी प्रदान करेगा।

अधिकारियों ने रविवार को कहा कि यह विदेशों में जमा कथित काले धन के खिलाफ भारत सरकार की लड़ाई का मील का पत्थर है। भारत को इस महीने स्विट्जरलैंड में भारतीयों के फ्लैट और अपार्टमेंट की पूरी जानकारी मिल जाएगी। ऐसी संपत्तियों से होने वाली आय पर बकाया कर की जानकारी भी मिलेगी।

छवि सुधारने के लिए स्विस बैंक का कदम

स्विस बैंकों को काले धन का सुरक्षित ठिकाना माना जाता है। देश इस छवि से छुटकारा पाने के लिए खुद को एक विशेष वैश्विक वित्तीय केंद्र के रूप में फिर से स्थापित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। स्विस बैंक से तीसरी बार भारत सरकार को खातों का खुलासा किया जाएगा।

 

जानकारों का कहना है कि बैंक का यह कदम जायज है।

स्विट्जरलैंड सरकार ने भारत के साथ जानकारी साझा करने पर सहमति जताई है। क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों और स्विट्जरलैंड में निवेश आकर्षित करने वाले व्यापारियों ने इस कदम को सही ठहराया है।

“दुनिया भर के लोगों को लगता है कि स्विट्जरलैंड की संपत्ति में अवैध रूप से पैसा लगाया गया है।” स्विस सरकार के इस कदम से भ्रांतियां दूर होंगी।

भारतीय खातों की जानकारी 

सितंबर 2019 में स्विट्जरलैंड के पहले सेट में भारत सहित 75 देशों को उनके नागरिकों का विवरण दिया गया। 

जिसके बाद सितंबर 2020 में भारत सरकार को दूसरा सेट मिला। जिसमें भारत समेत 85 देशों के खाताधारकों की सरकार को जानकारी दी गई।

अब तक 30 लाख खातों का खुलासा हो चुका है।

दो साल में स्विस बैंक ने देश के करीब 30 लाख खातों का खुलासा  किया है। इस साल यह आंकड़ा इससे ज्यादा हो सकता है। बैंक से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि इस साल बड़ी संख्या में अनिवासी भारतीय और भारतीय कंपनियों के आंकड़े जारी किए जाएंगे।

 

2020 में भारतीयों की संपत्ति में 212% की वृद्धि हुई

स्विस बैंक द्वारा 18 जून, 2021 को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि स्विस खातों में भारतीयों की जमा राशि 20,700 करोड़ रुपये तक पहुंच गई, जो पिछले 13 वर्षों में सबसे अधिक है। यह 2019 के मुकाबले 212 फीसदी या 3.12 गुना ज्यादा है।

#business #biz #Swiss Bank #Indian Government #Black Money

#Switzerland #BlackMoneyDetails #BlackMoneyNews #Businessnews

#newspuran

EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ