पीलिया के सामान्य लक्षण व सरल धरेलू उपचार…

पीलिया के सामान्य लक्षण व सरल धरेलू उपचार…

पीलिया 

आँखों के सामने पीलापन दिखाई देना, बुखार, चक्कर आना, कई बार आँखों के सामने अंधेरा छा जाना, आँखों में पीलापन, शरीर का पीला होना, पेशाब पीला आना, जीभ पर काँटे-से उग आना, भूख न लगना, पेट में दर्द, हाथ-पैरों में कमजोरी पेट में अफारा, मुँह कडवा हो जाना, दिन-पर- दिन कमजोरी आदि इस रोग के लक्षण हैं. रोग बढ़ने पर सारा शरीर हल्दी की तरह पीला दिखाई देता है.

सामान्य घरेलू उपाय

1. ग्राम हरे आँवले के रस में थोड़ा-सा गन्ने का रस मिलाकर सेवन करना चाहिए। जब तक पीलिया का रोग खत्म न हो जाए, तब तक उसे बराबर पीते रहें।

2. छाछ के साथ आँवले का चूर्ण एक चम्मच दिन में तीन बार नित्य सेवन करना चाहिए।

3. करेले का रस एक चम्मच लेकर उसमें चुटकीभर कुटकी पीसकर मिलाकर इस रस का कुछ दिनों तक सेवन करना चाहिए।

4. चार पीपल के नये पत्ते तथा चार लसोड़े के नये पत्ते; दोनों को पीसकर चटनी बनाकर सेवन करना चाहिए। ० जौ के सत्तू खाकर ऊपर से एक गिलास गन्ने का रस पीना चाहिए, चार-पाँच दिनों में पीलिया कम हो जाएगा।

5. नीम के पत्तों का रस एक चम्मच दिन में तीन बार सेवन करना चाहिए। O गिलोय का रस एक चम्मच की मात्रा में दिन में दो बाद सेवन करना चाहिए।

6. नीम के पत्तों का आधा चम्मच रस, सोंठ दो चुटकी और शहद दो चम्मच; तीनों को मिलाकर दिन में दो बाद सेवन करना चाहिए। ० दशमूल काढ़े का एक कप रस लेकर उसमें आधा चम्मच सोंठ तथा दो चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम आठ-दस दिनों तक सेवन करना चाहिए।

7.  सज्जीखार, सोडाबाई कार्ब, दोनों एक-एक चुटकी की मात्रा में दिन में तीन बार ठंडे पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

8. फूली हुई फिटकरी एक चुटकी, मिश्री में मिलाकर दिन में तीन बाद पानी से सेवन करना चाहिए.

9. कलमीशोरा और जवाखार, दोनों को एक-एक चम्मच पानी में मिलाकर दिन में तीन बार लें.

10. कुटकी १० ग्राम और चिरायता १० ग्राम; दोनों को कूटकर आधे कप पानी में भिंगो देना चाहिए. फिर छानकर इसकी तीन खुराक करें, सुबह, दोपहर और शाम को सेवन करना चाहिए.

11. दो चम्मच मूली के पत्तों के रस में थोड़ी-सी मिश्री मिलाकर नित्य ८-१० दिनों तक सेवन करना चाहिए.

12. ग्राम छोटी पीपल, ५ ग्राम काली मिर्च का चूर्ण, सहजन की छाल ५ ग्राम इन सबको मिलाकर दो कप पानी में पकाकर काढ़ा बनायें. पानी जब आधा कप बचा रह जाए, तो उसे उतार व छानकर पीना चाहिए. ८-१० दिनों तक यह काढ़ा पीना चाहिए.

13. १०० ग्राम बथुए के बीज कूट-पीसकर छान लें, सुबह को १५ १६ दिनों तक आधा चम्मच चूर्ण पानी के साथ सेवन करना चाहिए.

14. गुड़ के साथ १० ग्राम सोंठ खाने से पीलिया का रोग कुछ ही दिनों में जाता रहता है.

15. चार-पाँच लहसुन की कलियाँ पीसकर दूध में उबालकर पीना चाहिए, १० दिनों तक इसके इस्तेमाल से पीलिया रोग ठीक हो जाएगा.

16. कच्ची मूली का रस एक चम्मच तथा उनमें एक चुटकी जवाखार मिलाकर सेवन करना चाहिए. कुछ दिनों तक सुबह, दोपहर और शाम को लगातार पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है.


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ