करोड़ों के घोटाले में फंसे काली दुरई के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश: गणेश पाण्डेय 

करोड़ों के घोटाले में फंसे काली दुरई के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश

गणेश पाण्डेय
Ganesh Pandayभोपाल. राज्य शासन ने 1996 बैच के आईएफएस एम काली दुरई को उद्यानिकी घोटाले के मामले में विभागीय जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. इसी प्रकार विदिशा अतिक्रमण और सरपंच पति की हत्या मामले में वन विकास निगम में मंदसौर डीएफओ के खिलाफ आरोप पत्र जारी करने की तैयारी कर ली है.

उद्यानिकी विभाग में करोड़ों रुपए का घोटाले में फंसे आईएफएस एम काली दुरई 7 माह से मुख्यालय से गैर हाजिर है. वन विभाग ने दुरई को ई-मेल से आरोप-पत्र सेंट कर दिए गए हैं पर डाक से भेजा गया आरोप पत्र वापस आ गया है. विभाग को जो पता दिया गया था, उस पर पोस्ट ऑफिस से यह लिखा आ गया है कि संबंधित व्यक्ति यहां रहता ही नहीं है. आरोप पत्र भी उनके गांव के पते पर भेजा गया था. 7 माह से अधिक का समय बीत गया है किंतु वन विभाग ने उनकी कोई खोज-खबर नहीं ली है. प्रशासन-एक शाखा के प्रभारी अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक आरके यादव के पास भी उनकी छुट्टी का हिसाब-किताब नहीं है. यादव सिर्फ इतना यह बता पाते हैं कि वह दिसंबर माह से गायब हैं. जबकि वे सितंबर महीने से ही अपने शाखा में उपस्थिति दर्ज नहीं करा रहे थे.

M kali durai
M kali durai
मंदसौर डीएफओ श्रीवास्तव को आरोप पत्र देने की तैयारी

मार्च 2021 में विदिशा जिले लटेरी तहसील के मुरवास गांव के सरपंच आशा देवी के पति संतराम धौलपुरिया की हत्या के बाद भू माफिया फकीर मोहम्मद द्वारा 11000 से अधिक हेक्टेयर वन विकास निगम की भूमि पर कब्जा करने के मामले में मंदसौर डीएफओ आदर्श श्रीवास्तव और दो अन्य अधिकारियों को आरोप पत्र शीघ्र ही दिए जा रहे हैं. वन विकास निगम के प्रबंध संचालक एके पाटिल ने बताया कि आरोप पत्र तैयार हो गया है. दो-चार दिन में डीएफओ मंदसौर और प्रभारी एसडीओ धर्मेंद्र भदोरिया को आरोप पत्र दिए जा रहे हैं. यहां यह उल्लेखनीय है कि अतिक्रमण के आड़ में आदर्श श्रीवास्तव और उनके सहयोगी होने पौधारोपण के नाम पर कागजी कार्रवाई की गई है. इस आशय की पुष्टि वन विकास निगम द्वारा कराई गई जांच में यूके सुबुद्धि ने की है.

खबर का असर

'जिन्हें चार्ज शीट देना था उन्हें वन विभाग ने भेज दिया' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी. खबर के प्रकाशन के बाद वन विकास निगम के प्रबंध संचालक एके पाटिल ने तैयार आरोप पत्र को बंद फाइल से बाहर निकाला और शीघ्र ही जारी करने की बात कही है. इसी खबर में दो एसडीओ हेमंत रायकवार और सुधीर मिश्रा के स्थानांतरण आदेश का पालन नहीं होने संबंधित समाचार प्रकाशित किया था. इसके प्रकाशन के बाद दोनों ही एसडीओ को भार मुक्त कर दिया है. सुधीर मिश्रा सितंबर महीने में कान्हा नेशनल पार्क से बांधवगढ़ नेशनल पार्क में स्थानांतरित किए गए थे. आदेश जारी होने के 9 महीने बाद भी कान्हा में ही बने हुए थे. इस बार उनके सारे प्रयास धरे रह गए.

करोड़ों के घोटाले में फंसे आईएफएस अफसर 7 माह से लापता, अब विभागीय जांच की तैयारी: गणेश पाण्डेय

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ