हर प्रकार की खासी का घरेलु और आयुर्वेदिक उपचार.. कोरोना की खांसी भी ठीक हो जाएगी ….

खाँसी(Cough) या कास रोग : खांसी किसी भी तरह की हो इन उपायों से दूर हो जाएगी|

Cough

खांसी और जुकाम का घरेलू उपचार, खांसी को कैसे रोकें, सबसे अच्छा कफ सिरप, कफ के साथ खांसी के लिए घरेलू उपाय, बच्चों में खांसी के लिए घरेलू उपचार, खांसी और जुकाम की दवा, खुजली वाली खांसी का उपाय, खांसी से छुटकारा,

रोग के सामान्य लक्षण-

सूखी खाँसी(Cough) में कफ नहीं निकलता है, रोगी की छाती जकड़ जाती है, लेकिन तर खाँसी(Cough) में कफ आता है जो खाँसी(Cough) अचानक दौरे के रूप में ठहरती

रोग व सरल उपचार है, वह काली खांसी है। इसमें बेचैनी हो जाती है तथा खाँसते-खाँसते छाती में दर्द होने लगता है। सामान्य घरेलू उपाय

एक चुटकी फिटकरी का चूर्ण फाँककर ऊपर से गर्म पानी पीना चाहिए।

काले नमक की छोटी-सी डली मुख में रखकर चूसना चाहिए।

आधा कप गर्म पानी में आधा चम्मच पीसी हल्दी और एक चुटकी सेंधा नमक डालकर दिन में तीन-चार बार पीना चाहिए।

बार-बार खांसी उठने पर छोटी इलायची या लौंग चूसने से काफी आराम मिलता है।

ग्वारपाठे का रस आधा चम्मच, चुटकी भर पीसी हुई काली मिर्च और चौथाई चम्मच पीसी हुई सोंठ; तीनों को शहद में मिलाकर चाटना चाहिए।

१०० ग्राम पानी में थोड़े-से मौलगिरी के फूल भिगो देना चाहिए। सुबह के समय उबालकर इसे पीना चाहिए। यह सूखी खाँसी(Cough) के लिये रामबाण दवा है। पान का आधा चम्मच रस लें, उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर

धीरे-धीरे चाटना चाहिए। पीसी हुई एक चुटकी काली मिर्च गुड़ के साथ खाना चाहिए। तुलसी के पत्तों और काली मिर्च मिली चाय पीने से खाँसी(Cough) तथाजुकाम दोनों दूर हो जाते हैं।

पीसी हुई काली मिर्च को देसी घी के साथ लेने से सूखी खाँसी(Cough) ठीक हो जाती है।

दो लौंग और दो चुटकी सूखे अनार के छिलकों का पिसा चूर्ण,दोनों को मिलाकर शहद के साथ सेवन करना चाहिए। – मक्का के भुट्टे को जलाकर उसकी राख पीस कर इसमें थोड़ा-सा सेंधा नमक मिलाकर इसमें से आधा-आधा चम्मच चूर्ण गर्म पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

चार काली मिर्चों का चूर्ण दो चुटकी सोंठ और दो लौंगों का चूर्ण शहद में मिलाकर सेवन करना चाहिए।

अजवाइन के रस में एक चुटकी काला नमक मिलाकर सेवन करना चाहिए। ऊपर से गर्म पानी पीना चाहिए।

Ayurvedic Couple-Newspuran-01एक चम्मच शहद में आंवले का चूर्ण मिलाकर चाटना चाहिए। 0 सरसों के तेल में दो पूती लहसुन डालकर इसे पका लें। इस तेलको छाती पर मलें, इससे छाती में जमा कफ बाहर आ जाएगा।

– एक चम्मच मेथी के दानों को एक कप पानी में उबालें। पानी जब आधा रह जाए, तो उसे छानकर पीना चाहिए।

– काली मिर्च और मुलेठी लेकर पीस कर इसे गुड़ में मिलाकर मटर के बराबर की गोलियाँ बना लें। दो गोली सुबह और २ गोली शाम को पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

-एक पूती लहसुन तथा तीन-चार मुनक्के लेकर इसके बीज निकाल लें। फिर दोनों की चटनी बनाकर सुबह-शाम के समय खाना चाहिए।

-इलायची, काली मिर्च, बबूल का गोंद तथा मिश्री चारों को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाना चाहिए। इस चूर्ण में से आधा चम्मच चूर्ण सुबह शाम गर्म पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

– केले के पत्तों को जलाकर उसकी राख पीसकर शीशी में रख लें। इसमें से दो चुटकी या आधा चम्मच राख सुबह-शाम शहद के साथ सेवन करना चाहिए। ० सूखी खाँसी(Cough) के लिये एक चम्मच तिल और थोड़ा-सा गुड़ पानी में डालकर उबाल लें। अच्छी तरह उबाल जाने के बाद इस काढ़े को शाम पीना चाहिए। सुबह तुलसी के पत्तों को आधा चम्मच चूर्ण शहद के साथ चाटना चाहिए। एक इलायची के दाने पीस कर उसमें आधा चम्मच सोंठ का चूर्ण मिलाकर दोनों को शहद के साथ सेवन करना चाहिए।

– सोंठ, काली मिर्च और पीपल; तीनों को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाना चाहिए। इस चूर्ण में से आधा चम्मच चूर्ण दिन में तीन-चार बार गर्म दूध के साथ सेवन करें।

– छोटी इलायची के दानें तवे पर भूनकर चूर्ण बनाना चाहिए। इस चूर्ण में देसी घी में शहद मिलाकर सुबह-शाम सेवन करना चाहिए।

– छाती पर यदि कफ जम गया हो, तो आधा चम्मच तुलसी की पत्तियों का रस गर्म पानी के साथ सुबह के समय सेवन करना चाहिए। ০ ४-५ दाने काली मिर्च, आधा चम्मच सोंठ तथा चार लौगें चूर्ण; तीनों को शहद के साथ सेवन करना चाहिए। बेल के पत्तों का एक चम्मच रस लेकर शहद के साथ सेवन करना चाहिए।

– पान के साथ दो रत्ती जायफल घिसकर सेवन करना चाहिए।

पुरानी खांसी में मुलेठी को मुख में रखकर चूसना चाहिए।

बबूल की छाल का काढ़ा पीने से भी खाँसी(Cough) ठीक हो जाती है।

मुलेठी ५ ग्राम, काली मिर्च ५ ग्राम, सोंठ ५ ग्राम, एक छोटी गाँठ अदरक। इन सबको एक कप पानी में उबाल लें। फिर इनका काढ़ा बनाकर सुबह-शाम सेवन करना चाहिए।

एक चम्मच पीसी हुई हल्दी बकरी के दूध के साथ सेवन करना चाहिए।

दो अंजीर के फलों को पुदीने के साथ खाना चाहिए, सीने पर जमा हुआ कफ धीरे-धीरे निकल जाएगा।

गिलोय को शहद के साथ चाटने से कफ विकार नष्ट होता है।

सुहागे को तवे पर फुला लें फिर उसे पीसकर चूर्ण बनाना चाहिए। उसमें से एक चुटकी चूर्ण लेकर शहद के साथ चोदना चाहिए।

बादाम की गिरी ५, काली मिर्च के २० दानें, लौंगें ४ और सोंठ आधा चम्मच। इन सबको लेकर काढ़ा बनाकर सेवन करना चाहिए। ०५० ग्राम सिरस के बीज पीसकर पानी में उबालकर काढ़े के रूप में सेवन करना चाहिए।

कत्था, गोंद, बबूल तथा मुलेठी। इन चारों को कूट-पीसकर चूर्ण बनाना चाहिए। इसमें से आधा चम्मच चूर्ण शहद के साथ सेवन करना चाहिए। ० आम की गुठली की गिरी सुखाकर पीस कर इसमें से एक चम्मच चूर्ण शहद के साथ सेवन करना चाहिए।

तुलसी के बीजों का दो-दो चुटकी चूर्ण सुबह-शाम शहद के साथ चाटना चाहिए।

तीन-चार मुनक्के लेकर उसके बीज निकाल लें और तवे पर भून लें। फिर उसमें काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर खाना चाहिए। ० चार-पाँच काली मिर्च, एक चम्मच अदरक का गूदा, तुलसी के चार-पाँच पते, दो लौंग। इन सबको एक कप पानी में उबालकर काढ़ा तैयार करके उसमें थोड़ी-सी खाँड़ या मिश्री डालकर सुबह-शाम पीना चाहिए। – एक चम्मच अदरक के रस में थोड़ा-सा शहद मिलाकर चाटना चाहिए। यह खाँसी(Cough) की पुरानी कथा प्रसिद्ध घरेलू दवा है।

सूखी खाँसी(Cough) को दूर करने के लिये हरे पान के पत्ते पर दो चुटकी अजवाइन रखकर पान को चबायें। रस को धीरे-धीरे कंठ के नीचे उतारते रहना चाहिए।

काली मिर्च का चूर्ण एक चुटकी, पीसी हुई मिश्री आधा चम्मच।

इन दोनों को मिलाकर आधे चम्मच देसी घी के साथ सेवन करना चाहिए। ० कफ वाली खांसी के लिये आधा चम्मच इलायची का चूर्ण तथा आधा चम्मच सोंठ का चूर्ण लेकर शहद में मिलाकर दिन में तीन-चार बार चाटना चाहिए। आधा चम्मच हल्दी को शहद में मिलाकर सेवन करना चाहिए। यह हर प्रकार की खाँसी(Cough) को दूर करने वाली औषधि है।

natural cough remedies,Home Remedies for Dry Cough,Treating a Cough From a Cold or the Flu,
Natural Cough Remedies,Honey: An effective cough remedy?,Coughs and Colds, Medicines or Home Remedies, patanjali ayurvedic medicine for cough and cold,ayurvedic medicine for cough with phlegm,ayurvedic medicine for wet cough,ayurvedic medicine for chronic cough,cough home remedies,patanjali medicine for dry cough,ayurvedic medicine for cough and sore throat.best ayurvedic medicine for cough and cold,TREATMENT OF CORONA COUGH AT HOME

खांसी और जुकाम के लिए पतंजलि आयुर्वेदिक दवा, कफ के साथ खांसी के लिए आयुर्वेदिक दवा, गीली खांसी के लिए आयुर्वेदिक दवा, पुरानी खांसी के लिए आयुर्वेदिक दवा, खांसी का घरेलू उपचार, सूखी खांसी के लिए पतंजलि दवा, खांसी और गले में खराश के लिए आयुर्वेदिक दवा, खांसी और सर्दी के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा,कोरोना की खासी का उपचार|


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ