खनिज आहार का प्रभाव

Effect of mineral diet-Newspuran

खनिज आहार का प्रभाव

- खनिज वे होते हैं जो हमे भोजन के रुप में मिलते हैं।

- अब तक 100 से ज्यादा खनिज तत्वों की खोज की  जा चुकी है । इन में से 25 तत्व हमारे शरीर में उपलब्ध होते है। वह भी बहुत कम मात्रा में । परंतु इन तत्वों के बिना  जीवन सम्भव नहीं है।

- शरीर के लिये 5 महत्वपूर्ण खनिज कैल्शियम, मैग्नीशियम , फास्फोरस, पोटेशियम और सोडियम आवश्यक होते हैं।

- सूक्ष्म खनिज  क्रोमीअम,तांबा, आयोडीन,लोहा, मैगज़ीन, जस्ता और सेलीकाम हैं  ।

- इसके इलावा सोना, चांदी, पारा, शीशा आदि तत्व भी नाम मात्र को रहते है ।

- ये खनिज शरीर के लिये उतने ही ज़रूरी है जितने विटामिनस ज़रूरी हैं।

- इन तत्वों में से लोहा और जिंक ऐसे तत्व हैं जो दिमाग के लिये बहुत उपयोगी हैं ।

- आयरन (लोहा)

- दिमाग के ठीक ढंग से काम करते रहने के लिये निरंतर आक्सीजन का मिलना ज़रूरी है । रक्त में मैजूद आयरन आक्सीजन को दिमाग तक पहुचाने में मदद करता है ।

- आक्सीजन रक्त में मौजूद हीमोग्लोबीन के जरिये दिमाग में पहुँचता है।

- हमारे खानपान में आयरन की मात्रा कम होने पर हीमोग्लोबिन की कार्य क्षमता प्रभावित होती है और दिमाग को जरूरत भर आक्सीजन नहीं मिल पाती, वह व्याकुल रहता है, किसी काम पर ध्यान केन्द्रित नहीं कर पाता है।

-इसकी कमी से जीभ में जलन व छाले हो जाते हैं। बैठे बैठे आंखो के आगे अंधेरा आ जाता है। सांस फूलती है। दिल की धड़कन तेज हो सकती है । ना चाहते हुये टांगे हिलने लगती है। घबराहट होने लगती है। बाल  झड़ने लगते है। सिर दर्द होने लगता है।

-आयरन हरी सब्जियों, सेब,अमरूद, संतरे,अंगूर और ताजे फलों के सेवन से मिलता है ।

-ये हमे दूध, दाल, खजूर, तिल, मूंगफली, काबुली चना, राजमाह, सोयाबीन, मैथी, सरसो का साग, मसूर की दाल, पालक और गुड़ में मिलता है ।

-कोई भी मानसिक परेशानी हो तो आयरन वाले पदार्थ भरपूर खाने चाहिये । भोजन के बाद थोड़ा सा गुड़ इसीलिये खाते  है ।

-जिंक की कमी होने पर व्यक्ति दिमागी तौर पर सुस्त हो जाता है और उदासीन रहने लगता है।

-जिंक की कमी हमारे दिमाग के उस हिस्से को निष्क्रिय बना देती है जहां स्वाद व गंध जैसी  संवेदनायों की  सूचना पहुंचती  है।

-इसकी कमी के कारण व्यक्ति बिलकुल भूख ना लगने या फिर हमेशा ही भूख लगी रहने जैसी समस्याओं का शिकार हो जाता है।

-मुहांसे, फ़ोडे, नेत्र रोग, हड्डियों के रोग,गठिया,अस्थमा तथा एग्जीमा हो सकता है।

-जिंक हमे मूंगफली, तिल, फलीया, राजमाह, सोयाबीन, अलसी, बादाम, मटर और गेहूँ से मिलता है।

-जिंक सप्लीमेंट के सेवन से उपरोक्त समस्याओ से छुटकारा पा सकते हैं| 

-बुढापे में आई दिमागी दुर्बलता पर जिंक सेवन से मुक्ति पायी जा सकती है|


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ