अदरक करें सर्दी को बेअसर, जानिए अदरक के फायदे..

अदरक करें सर्दी को बेअसर, जानिए अदरक के फायदे..
जब - जब मौसम बदलता है सर्दी, जुकाम, बुखार, जैसी समस्याएं आम हो जाती है। सर्दी होने पर अदरक, काली मिर्च, इलायची और शहद का सेवन फायदेमंद होता है। इसके अलावा तुलसी के पत्ते और लोंग भी असरकारक होती है। 





पेश है घरेलू औषधि अदरक के फायदे :



हमारे देश में घरेलू औषधि के रूप में अदरक का काफी उपयोग होता है। औषधीय गुणों से भरपूर अदरक का प्रयोग मुरब्बा, पाक, चटनी, अचार के रूप में भी किया जाता है। सोठ अदरक से ही तैयार होता है। गर्मियों में सोंठ के सेवन से बचना चाहिए, पर अदरक का संतुलित उपयोगकर सकते हैं। 




भूख न लगने पर, पेट में वायु हो, कब्ज हो तो अदरक को बारीक काटे और नमक छिड़ककर खाएं ये शिकायतें दूर हो जाएगी।खांसी में अदरक का रस, नींबू का रस और शहद समान मात्रा में लेकर उसमें पीपरी डालकर दिन में दो-तीन बार ले, अदरक के रस में शहद मिलाकर चाटने से भी लाभ होता है| शरीर में जलन हो तो दो गन्ने का रस, एक गांठ अदरक के भी को जलन भी शांत हो जाएगी। श्रीने का रस और सेंधा नमक मिलाकर पीएं, पेट दर्द में होने पर अदरक, अजवायन और गुड़ समान मात्रा में कूट लें, इसे घी में भूनकर, पानी डालकर पकाएं, इसे नियमित खाने से कब्ज दूर होती है। 




. फ्लू होने पर अदरक, तुलसी के पत्ते, काली मिर्च व लॉग इन सभी को चाय बनाकर दिन में 3-4 बार पिलाएं।


  •  मसूड़ों की सूजन में 4 ग्राम सोठ का चूर्ण पानी के साथ सेवन करने से मसूढ़ों की सूजन और दांतों का दर्द दूर होता है।
  •  अवाज बैठने पर, अदरक का रस मधु में मिलाकर सेवन करने से बैठी हुई आवाज खुलती है और सुरीली बनती है।
  •  बुखार में, अदरक और पुदीने का काढ़ा बनाकर पीएं। यह शीत ज्वर में भी फायदेमंद है।
  •  कमजोरी में, सोंठ बेल की गिरी, छोटी इलायचो, दालचीनी और छुहारा बराबर मात्रा में कूट-पीस लें। इसे 10 ग्राम रोज शाम को दूध के साथ लें। यह बीमारी के बाद की कमजोरी को दूर करता है और ताकत बढ़ाता है।
  •  अदरक का रस, नींबू का रस और सेंधा नमक एक साथ मिलाकर भोजन के प्रारंभ में लेने से मंदाग्नि दूर होती है और भूख खुलकर लगती है। इससे कफ व वायु विकार भी दूर होते हैं।
  •  गठिया में, अदरक को बारीक काटें और गाय के घी में भूनकर खाएं। तेल में गर्म करके इस तेल से जोड़ों की मालिश करें। 
  •  उल्टी में, अदरक और प्याज अदरक को तिल के का रस मिलाकर पीने से उल्टी बंद हो जाती है। 
  •  पतले दस्त में, अदरक कूटकर पानी में उबालें और यह पानी दिन में तीन बार रोगी को पिलाएं।

EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ