हिन्दी लोकोक्तियाँ-8 -दिनेश मालवीय

हिन्दी लोकोक्तियाँ-8

-दिनेश मालवीय

1. आदर का सत्तू, निरादर का हलवा
अनादर से प्रप्त हलवे से सम्मान से प्राप्त सत्तू अच्छा होता है.

2.आधा तीतर आधा बटेर
बेतुकी बात, बेढंगे काम या बेमेल पोषक पर कहा जाता है.

3.आधे वैद्य प्राण के घातक

गुणहीन व्यक्ति से काम बिगड़ने की अधिक संभावना होती है.

4.आने-जाने से काम बनता है.
सफलता के लिए अच्छे सम्पर्क होना ज़रूरी है.

5.आपकाज महाकाज
अपने हाथ से किया गया काम ही श्रेष्ठ होता है.

6.आपकी जूतियों का सदका है
किसी व्यक्ति की प्रशंसा और उसके सामने ख़ुद को छोटा बताने के लिए ऐसा कहा जाता है.

7.आपको न चाहे ताके बाप को न चाहिए.
जो आपसे प्रेम न करे उससे प्रेम नहीं करना चाहिए.

8.आप बुरा तो जग बुरा
बुरा आदमी पूरे जगत को बुरा समझता है.

9.आप लिखें ख़ुदा बाँचे
ख़राब हैण्डराइटिंग पर कहते हैं.

10.आप हारे, बहू को मारे
किसी का गुस्सा किसी निर्दोष पर निकालना.

11.आबदार मुँह से नहीं कहता.
सच्चा विद्वान या गुणवान व्यक्ति कभी अपनी प्रशंसा नहीं करता.

12.आ बला गले लग जा. आ बैल मुझे मार.
मुसीबत को बुलाना. Inviting trouble.

13.आम फले तो नीचा दबे.
ज्ञान प्राप्त होने के बाद आदमी विनम्र हो जाता है.

14.आरती के वक्त सो गये, भोग-प्रसाद के वक्त जागे.
काम के वक्त गायब हो जाना और खाने के वक्त हाजिर होना. स्वार्थी व्यक्ति के लिए कहते हैं.

15. आरोग्य महाभाग्य.
स्वास्थ्य बड़ी किस्मत से मिलती है.
तंदरुस्ती हज़ार नियामत. Health is wealth.

16. आवश्यकता अविष्कार की जननी है.
जब किसी वस्तु की ज़रूरत होती है, तभी उसे पूरा करने के उपाय खोजे जाते हैं. Necessity is the mother of invention.

17.  आशा की बेल पहाड़ चढ़ती है.
आशावान व्यक्ति बड़े से बड़ा काम कर लेता है.

18. आशिक से दोस्ती जूतों से भेंट.
किसी आशिक से दोस्ती करने पर उसके साथ जूते भी खाने पड़ते हैं. यानी बुरे
व्यक्ति के साथ रहना हानिकारक है.

19.आसमान ज़मीन के कुलाबे मिलाते हैं.
जब  कोई बहुत अतिश्योक्तिपूर्ण बात करता है, तो कहा जाता है.

20.आस्तीन का सांप
चूप हुआ दुश्मन.


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ