BORDER DISPUTE पर तल्खी के बीच नेपाल(NEPAL) के साथ पहली बैठक खत्म, भारत(INDIA) की फंडिंग से चल रहे प्रॉजेक्ट्स पर हुई बात

सीमा विवाद पर तल्खी के बीच नेपाल(NEPAL) के साथ पहली बैठक खत्म, भारत(INDIA) की फंडिंग से चल रहे प्रॉजेक्ट्स पर हुई बात

पिछले वर्ष भारत(INDIA) ने अपने नए केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख के नक्शे में कालापानी रीजन को शामिल किया तो नेपाल(NEPAL) सरकार ने इस पर आपत्ति जताई और उसे नेपाल(NEPAL) का हिस्सा बताया। मई में जब भारत(INDIA) ने लिपुलेख तक जाने वाली सड़क का उद्घाटन किया तो नेपाल(NEPAL) ने कड़ी प्रतिक्रिया दी।

India and Nepal held the 8th meeting of the Oversight Mechanism (OSM) through digital video Conferencing today. The meeting carried out a comprehensive review of bilateral economic and development cooperation projects: Embassy of India, Kathmandu #Nepal

नई दिल्ली

भारत(INDIA) और नेपाल(NEPAL) के बीच सीमा विवाद को लेकर बढ़ी तल्खी के बीच दोनों देशों ने आज पहली बार बातचीत की।

दोनों देशों ने भारत(INDIA)-नेपाल(NEPAL) जॉइंट ओवरसाइट मैकनिजम (India-Nepal joint oversight mecahnism) के तहत समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया।

बैठक में भारत(INDIA) की फंडिंग से नेपाल(NEPAL) में चल रही विभिन्न परियोजनाओं की प्रगति पर चर्चा हुई।

इस बैठक में नेपाल(NEPAL) के नए नक्शे या सीमा विवाद पर कोई बातचीत नहीं हुई।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के जरिए बातचीत

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के जरिए हुई बैठक में भारत(INDIA) की तरफ से नेपाल(NEPAL) में राजदूत विनय मोन क्वात्रा (Vinay Mohan Kwatra) ने हिस्सा लिया जबकि नेपाल(NEPAL) के विदेश सचिव शंकर दास बैरागी (Shanker Das Bairagi) ने अपने देश का प्रतिनिधित्व किया।

क्वात्रा और बैरागी भारत(INDIA)-नेपाल(NEPAL) जॉइंट ओवरसाइट मैकनिजम के जॉइंट चेयरमेन भी हैं।

पिछले साल से नेपाल(NEPAL) के साथ तल्ख हुए रिश्ते

पिछले वर्ष भारत(INDIA) ने अपने नए केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख के नक्शे में कालापानी रीजन को शामिल किया तो नेपाल(NEPAL) सरकार ने इस पर आपत्ति जताई और उसे नेपाल(NEPAL) का हिस्सा बताया।

मई में जब भारत(INDIA) ने लिपुलेख तक जाने वाली सड़क का उद्घाटन किया तो नेपाल(NEPAL) ने कड़ी प्रतिक्रिया दी।

इस वर्ष जून महीने में नेपाल(NEPAL) की संसद ने देश के नए नक्शे को पारित कर दिया जिसमें भारतीय क्षेत्रों कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को शामिल कर लिया गया।

भारत(INDIA) ने इसे अस्वीकार्य बताते हुए कहा कि नेपाल(NEPAL) का इन इलाकों पर दावा बिल्कुल आधारहीन है।

भारत(INDIA) के साथ रिश्ते खराब करने में नेपाल(NEPAL) के प्रधानमंत्री(PM) केपी शर्मा ओली की खास भूमिका रही जिन्होंने भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या तक को नकली बता दिया।

बाद में गौतम बुद्ध के मुद्दे पर भी विवाद हुआ जब भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने उन्हें भारत(INDIA) के सबसे बड़े चर्चित आदर्शों में एक बताया। इस पर नेपाल(NEPAL) ने कहा कि गौतम बुद्ध भारत(INDIA) के नहीं नेपाल(NEPAL) के थे।


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ