यह धर्मप्रेम है या खेल भावना का अपमान

यह धर्मप्रेम है या खेलभावना का अपमान
टोक्यो में चल रहे ओलम्पिक खेलों में एक बहुत अजीब घटना हुयी. अल्जीरिया के एक एथलीट फेथी नौरिने ने इस्राइल के खिलाड़ी के साथ खेलने से इसलिए माना कर दिया कि उसे यह अपने धर्म के विरद्ध महसूस हुआ. उसने कहा कि वह इस्राइल के खिलाड़ी तोहर बुत्बुल के साथ खेलकर अपने हाथ गंदे नहीं करना चाहता. उसने कहा कि फिलिस्तीन का मुद्दा किसी भी पदक या ख़िताब से अधिक महत्वपूर्ण है. हालाकि इंटरनेशनल जुडो फेडरेशन ने उसे निलंबित कर दिया है.

नूरिन ने 2019 में टोक्यो में हुयी वर्ल्ड चैम्पियनशिप से भी खुद को अलग कर लिया था, ताकि उसे इज्राइल के साथ नहीं खेलना पड़े.उसने कहा कि हमने टोक्यो ओलम्पिक के की तैयारी के लिए बहुत पसीना बहाया है. लेकिन आईएम फिलिस्तीन के मुद्दे को सबसे बड़ा मानते हैं.

Tokyo Olympic
इस घटना को लेकर धार्मिक कट्टरता के समर्थक लोग भले ही अल्जीरिया के इस खिलाड़ी के धर्म और अपने समुदाय के प्रेम की तारीफ़ कर लें, या उसे बड़ा धर्मप्रेमी मान लें, लेकिन उदार सोच वाले इसे खेल भावना का अपमान ही कहेंगे. ओलम्पिक खेलों का आयोजन ही देशों के बीच आपसी प्रेम और सहृदयता बढ़ाने के लिए ही किया जाता है.

मानने वाले तो यह भी भी मान सकते हैं कि अल्जीरिया का यह खिलाड़ी शायद भांप गया हो कि वह इज्राइल के खिलाड़ी से जीत नहीं पायेगा. इस्राइल से यदि इतनी ही नफरत थी और अपने धर्म के लिए इतनी ही निष्ठा थी तो उन्हें इस कारण ही ऐसी प्रतियोगिता में नहीं आना था, जिसमें इज्राइल भी भाग ले रहा हो.

वैसे तो हर विषय पर लोगों की अलग- अलग राय होती हैं, लेकिन कारण कोई भी हो, अल्जीरिया के खिलाड़ी को ऐसा नहीं करना था. यह खेल भावना के विरुद्ध है. कोई कितना भी बड़ा दुश्मन हो या आपके उससे कितने भी बड़े मतभेद हों, खेल के मैदान में तो खेल भावना ही सर्वोपरि होनी चाहिए. खेलों में इस प्रकार की धार्मिक कट्टरता किसी भी तरह उचित नहीं मानी जा सकती.

Tokyo Olympics Updates: कमलप्रीत कौर महिला डिस्कस थ्रो फाइनल में; पीवी सिंधु-पूजा रानी से आज मेडल की उम्मीद

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ