कृषि पुराण: मेगा फूड पार्क: क्या है मेगा फूड पार्क योजना, किसानों को कैसे होगा फायदा?

मेगा फूड पार्क: क्या है मेगा फूड पार्क योजना, किसानों को कैसे होगा फायदा?
एक मेगा फूड पार्क जहां कृषि उपज, फलों और सब्जियों के सुरक्षित भंडारण की व्यवस्था की जाती है। जहां इसे उत्पादों पर संसाधित किया जा सकता है।

मेगा फूड पार्क: मेगा फूड पार्क योजना क्या है, किसानों को इसका लाभ कैसे मिलेगा?

Food Park
मेगा फूड पार्क:-

मेगा फूड पार्क किसानों द्वारा उत्पादित फसलों को इकट्ठा करने और वितरित करने की एक प्रणाली है। 2009 में, केंद्र सरकार ने देश में 42 मेगा फूड पार्क स्थापित करने के लिए एक परियोजना शुरू की ताकि किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिल सके और उनकी उपज को बाजार में उपलब्ध कराने के लिए संसाधित किया जा सके। वर्तमान में देश भर में 22 मेगा फूड पार्क चल रहे हैं।

ये भी पढ़ें..केन्द्र सरकार: PM KISAN योजना की किश्त अब किसान फोन पर ही देख सकेंगे, शुरू हुआ ऐप.. 

मेगा फूड पार्क
केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने शुक्रवार को संसद को बताया कि देश भर में 38 मेगा फूड पार्कों को अंतिम मंजूरी दे दी गई है। इसके साथ ही तीन अन्य मेगा फूड पार्कों को भी सैद्धांतिक मंजूरी दी गई है। इनमें से दो मेगा फूड पार्क मेघालय और तमिलनाडु में स्थापित किए जाने वाले हैं।

मेगा फूड पार्क क्या हैं:-

एक मेगा फूड पार्क एक बड़ा भूखंड, मशीनरी है जहां कृषि उपज, फलों और सब्जियों के सुरक्षित भंडारण की व्यवस्था की जाती है। जहां उन उत्पादों को संसाधित किया जा सकता है, वहां बाजार की मांग के अनुसार उत्पाद तैयार किए जाते हैं।

ये भी पढ़ें..सरकार फर्जी किसानों से पैसा वापस लेगी, पता करेगी कि किसान सम्मान निधि योजना का हकदार कौन नहीं है

मेगा फूड पार्क योजना "क्लस्टर" दृष्टिकोण पर आधारित है। मेगा फूड पार्क में उद्यमियों द्वारा भंडारण केंद्र, प्राथमिक प्रसंस्करण केंद्र, केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र, कोल्ड स्टोरेज और खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना के लिए 25-30 पूर्ण विकसित भूखंडों सहित आपूर्ति श्रृंखला बुनियादी ढांचा है।

किसानों को कैसे होता है फायदा:-

फसल की खेती करने वाले किसानों के पास भंडारण की कोई व्यवस्था नहीं है। फल और सब्जियां कम समय में खराब होने की आशंका होती है। मेगा फूड पार्क में कृषि उत्पादों के भंडारण की व्यवस्था है। इसके अलावा इन उत्पादों को संसाधित करके इनकी कीमत बढ़ाई जाती है, यानी उन कच्चे माल को उच्च मूल्य के उत्पादों में बदल दिया जाता है।

ये भी पढ़ें..8.5 करोड़ किसानों के लिए 2000 रुपए की 6ठीं किस्त कल होगी जारी, PM Modi करेंगे 1 लाख करोड़ रुपए की योजना को लॉन्‍च

मेगा फूड पार्क 1
एक उदाहरण से समझें कि एक क्षेत्र में बहुत अधिक टमाटर का उत्पादन होता है, इसे तैयार किया जाना चाहिए और फिर बाजार में उपलब्ध कराया जाना चाहिए। इसी तरह जहां बंपर मकई का उत्पादन होता है, वहां कई तरह के मक्के के उत्पाद बनाकर बाजार में बेचने चाहिए। इसका सीधा फायदा किसानों को होता है। उन्हें उनके उत्पाद का अच्छा मूल्य मिलता है।

मेगा फूड पार्क योजना का उद्देश्य:- 

किसानों, प्रसंस्करणकर्ताओं और खुदरा विक्रेताओं को एक साथ लाकर मूल्य को अधिकतम करने और कचरे को कम करने के लिए कृषि उत्पादों को बाजार में लाने के लिए एक तंत्र प्रदान करना है। इस योजना का उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना और विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा करना है।

ये भी पढ़ें.. आदिवासी किसानों के नाम पर हुए 100 करोड़ के घोटाले की शिकायत सीबीआई तक पहुंची

असम, गुजरात, पंजाब, ओडिशा, मिजोरम, महाराष्ट्र सहित देश भर के 15 राज्यों में 22 मेगा फूड पार्क हैं। 


EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ