जीवन जियो और मस्ती से जियो, Finding the Joy in Life – P अतुल विनोद:-

 

Finding the Joy in Life-Newspuran-01

Only fools take life so seriously that they are constantly hurt. -Paramhams Yogananda

परमहंस योगानंद कहते थे कि ये जीवन मनोरंजन है हम सब मनोरंजन करने और कराने आए हैं|

वास्तव में जीवन मनोरंजन से ज्यादा नजर नहीं आता|  हम जिन बातों को लेकर गंभीर होते हैं|  एक दिन वो बातें हवा में उड़ जाए करती हैं|

जरा सोचो आज से 5 साल पहले हम किन बातों को लेकर चिंतित और परेशान हुआ करते थे?

अब तो वो बातें आपको याद नहीं  होंगी|  और यदि आपको याद भी आ जाए कि आज से 5 साल पहले ठीक इसी दिन आप किस बात को लेकर टेंशन में थे तो आपको हंसी आ जाएगी|  आप सोचेंगे बेफिजूल में मैं उस बात को लेकर परेशान हुआ|

हम हर रोज किसी न किसी बात को लेकर टेंशन में आ जाते हैं|  आज से 5 साल पहले भी हर रोज हम किसी न किसी बात को लेकर लोड ले लिया करते थे|

आज तमाम बातों का कोई भी अस्तित्व नहीं है जिनके लिए हम हर रोज परेशान हुआ करते थे|  आज भी हम जिन बातों को लेकर परेशान होते हैं आज से 5 साल बाद शायद हम अपनी परेशानी पर भी हंसें|

सब कुछ होगा लेकिन कुछ भी फाइनल नहीं तो फिर भावनाएं क्यूँ?

“Let everything happen to you
Beauty and terror
Just keep going
No feeling is final”

जरा सोचिए कि इतिहास में हर दौर में कितने महत्वपूर्ण लोग रहे हैं कितनी संघर्ष की दास्तान रही हैं|  50 साल पहले देश में किस बात को लेकर चिंता थी| देश में कौनसा मुद्दा हावी था?

चिंता व्यक्तिगत स्तर की हो या राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर की|  एक समय चिंता का कारण हवा हो जाता है|  लाइफ किसी का इंतजार नहीं करती| लाइफ हमेशा बदलती रहती है|

इसीलिए इस दुनिया को सिर्फ और सिर्फ मनोरंजन कहा गया|  क्योंकि आज जो हकीकत है वो कल फसाना बन जाएगी|

इसलिए जो भी करें आनंद के साथ करें

Whatever I do, wherever I go, I enjoy myself.

हमारे संघर्ष की दास्तान या तो हमारे साथ विदा हो जाएगी या कहीं किसी किताब, आर्टिकल छुपकर कहानी के रूप में पढ़ी जाएगी|

इसलिए ज्यादा तनाव लेने से कोई फायदा नहीं|  खुद को बहुत ऊंचा उठाने की कोशिश भी मत कीजिए|  आप जितना भी अपने आप ऊपर उठाएंगे सब एक दिन व्यर्थ हो जाएगा और आप जमीन पर गिर जाए, आपको सब कुछ छोड़ना ही है|

आप कितना ही पकड़ने की कोशिश करें लेकिन प्रकृति आपसे एक न एक दिन सब कुछ छीन लेगी|

ना तो दिल पर लें ना ही शरीर पर |  आत्मा पर तो बिल्कुल भी बोझ न डालें | आत्मा को एक नहीं अनेक जीवन का भार लेकर  आगे बढ़ना पड़ता है|  इसलिए जितना हो सके आत्मा पर वर्तमान जीवन का लोड न डालें तो ज्यादा अच्छा है|

जीवन जीने का नाम है डरने का नहीं, रोज एक नया अनुभव हमारा इंतज़ार करता है|

“The purpose of life is to live it, to taste experience to the utmost, to reach out eagerly and without fear for newer and richer experience.”

बस खुश रहें , सहज रहें |

क्या क्या बनोगे? कितना बनोगे?  कहां जाओगे? खाली हाथ आए थे और खाली हाथ जाओगे

“One day your life will flash before your eyes. Make sure it's worth watching”

इसलिए हंसते रहो नाचते रहें खुशहाल जिंदगी की तरफ कदम बढ़ाते रहें

हंसने के लिए कुछ भी करने की जरूरत नहीं|  ना तो मेहनत करने की जरूरत है ना पढ़ाई करने की जरूरत है नहीं पैसा कमाने की जरूरत है|

आपके पास मोबाइल है लाखों-करोड़ों वीडियोस अपलोडेड है बस क्लिक रहें जो पसंद आए  उसे खोलो और देखो आप हंसने लगोगे,  और सरकार भी आपसे टैक्स नहीं लेगी|  खुशहाली पर कोई जीएसटी नहीं है|

बी हैप्पी एंड बी कूल|

“In all of living, have much fun and laughter. Life is to be enjoyed, not just endured.”

सदाबहार रहें,   खुश तब रहा जा सकता है जब मन साथ देता है|  मन साथ क्यों नहीं देता क्योंकि हमने मन को उलझाया  हुआ है महत्वाकांक्षाओं में, आकांक्षाओं में|

हर काम करें लेकिन आनंद की फसल बोते और काटते रहें|

“Do anything, but let it produce joy.”

दूसरों के दुख से तो कदापि ना मरें |  आप किसी के लिए कुछ कर सकते हो वहां तक तो ठीक है लेकिन दूसरों के दुख के बोझ में खुद को ही भोजन बना लेना यह समझदारी नहीं|

हर व्यक्ति का अपना संस्कार, प्रारब्ध,कर्म फल और खुद की सोच है| वो दुखी उदास और परेशान रहना चाहता है इसमें दूसरा क्या कर सकता है|

किसने रोका है उसे हंसने के लिए?  लेकिन वो रोता है छोटी-छोटी बातों के लिए|

“Enjoy life. There's plenty of time to be dead.”

जिंदगी में आए हो जिंदगी के आनंद ना लिए तो क्या किया?  यमलोक पहुंचेंगे तो ईश्वर पूछेगा तुम्हें भेजा था तुमने क्या किया?

“Even in the mud and scum of things, something always, always sings.”

आप प्रकृति को देखोगे आप के शोषण के बावजूद भी वो हमेशा खुशहाल दिखाई देती है?  हर साल वो उजाड़ हो जाती है लेकिन पतझड़ के बाद फिर मुस्कुराने लगती है|

दूसरों का व्यवहार और काम यदि गलत है आपके अनुसार नहीं है तो उसकी सजा आप अपने आप को क्यों देते हो?

खुश रहना आपके अपने हाथों में है|  दूसरों के भरोसे खुशी  चाहोगे तो कभी नहीं मिलेगी|  दुनिया में ऐसे बहुत कम लोग हैं जो आपको खुशी दे सकते हैं|  ज्यादातर तो खुद टेंशन में हैं और आपको भी टेंशन देने ही बैठे हुए हैं|

“We're so busy watching out for what's just ahead of us that we don't take time to enjoy where we are.”

आप जहां हैं, जैसे हैं, जिस उम्र में हैं,  बस अपने आप को खुश रखने का निश्चय करें खुशी मिलना तत्काल शुरू हो जाएगी| जरा भी देर नहीं है|  दिमाग को तरोताजा करें और देखें कैसे खुशी आपकी तरफ दौड़ी चली  आएगी|

"From Joy we have come, in Joy we live and have our being, and in that sacred Joy we will one day melt again." (Taittiriya Upanishads 3:6:1)

हो सके तो खुद भी हंसो और दूसरों को भी  हंसाओ| हंसी से बड़ा वरदान भगवान ने इंसान को दिया ही नहीं|

हम हंसते हैं तो वो भी हंसता है|

“Do what makes you happy, be with who makes you smile, laugh as much as you breathe, and love as long as you live.”

जैसे आपके बच्चे हंसते हैं तो आप मुस्कुराते हैं कि नहीं?  आपको अपने बच्चों का हंसना अच्छा लगता है कि रोना|

जब कुछ छोटा बच्चा हमें रोता हुआ दिखाई देता है तो हमें कितना कष्ट होता है?  ऐसे ही ईश्वर है हम सब उसके बच्चे और हममें से कोई भी रोता है तो उसे भी दुख पहुंचता है|  लेकिन हम खिलखिलाते है तो उसका दिल भी गदगद हो जाता है|

आपकी हंसी ही उसकी सबसे बड़ी इबादत है| हंसी हर मर्ज की दवा है|

“Find ecstasy in life; the mere sense of living is joy enough.”

हम इम्यूनिटी बूस्ट करने  के लिए तमाम तरह की दवाई खा लें|  हो सकता है कि  इम्युनिटी 5/10 परसेंट बूस्ट हो जाए, इसकी जगह आप रोज हंसना शुरू कर दें तो इस बात की गारंटी है कि प्रतिरोधक क्षमता इससे ज्यादा इंप्रूव हो जाएगी|

Be afraid of nothing. Hating none, giving love to all, feeling the love of God, seeing His presence in everyone, and having but one desire —for His constant presence in the temple of your consciousness —that is the way to live in this world.

इतने सारे लेखक हैं,  कॉमेडी स्टार्ट हैं,  कवियों की तो भरमार है एक से बढ़कर एक वीडियो आपको मिल जाएंगे| आप बस खोल कर देखें पेट पकड़कर ना हंसने लगे तो कहिएगा|

यूट्यूब खोलते ही तो तमाम तरह के वीडियो देखते हैं, स्ट्रेस कैसे दूर करें?  सेहत कैसे बनाएं? ये कैसे करें वो कैसे करें?  एक बार सिर्फ और सिर्फ एक बार कॉमेडी सर्च करके देखिए|  कितना कुछ कर रखा है दुनिया वालों ने आपको हंसाने के लिए |

और गुस्सा तो जहर है, एसिड है|  जितना बाहर निकालोगे उतना ही अंदर घातक असर करेगा|  जला देता है गुस्सा|  आपका गुस्सा किसी और के लिए नहीं आपके लिए ही नुकसानदायक है| पहली बात तो कोशिश करें कि अपने ईगो को इतना छोटा रखें  कि गुस्सा आए ना|  और यदि आ गया है तो फिर उसे तकिए पर निकाल दें|  अंदर न रखना वरना बहुत तकलीफ होती है|

खुशी में सबसे बड़ी परेशानी अपने आपको जरूरत से ज्यादा तवज्जो देना है| हम खुद को इतना बड़ा मान लेते हैं कि जरा जरा सी बात पर हर्ट होने लगते हैं|  अपनी पूंछ जितनी लंबी करेंगे, यानी अपनी पूछ को जितना बढ़ाने की कोशिश करेंगे उतना ही दुख पाएंगे, लंबी पूछ कर ज्यादा लोग पैर रखेंगे|

दुनिया हमारे भरोसे नहीं चल रही| आप थे तब भी दुनिया चल रही थी और आप नहीं रहेंगे तब भी दुनिया  चलेगी|  अपनी अहमियत को सिर्फ आप ही देख पाते हो दुनिया नहीं|

बेवजह खुद को महत्वपूर्ण समझ कर अपने ईगो को बढ़ाने से सिर्फ और सिर्फ तकलीफ हासिल होती है|

जितना खुद को महत्वपूर्ण समझोगे उतना ही अपने ऊपर बोझ बढ़ाओगे|

दूसरों की राय पर मत जाइए| आप यदि कुछ हटकर कर रहे हैं तो कोई भी आपकी तारीफ नहीं करने वाला| सब आपको पागल कहेंगे| हर एक व्यक्ति आप का मजाक उड़ाने के लिए खड़ा हुआ होगा| कई लोग तो नकारात्मक बातें भी बोलेंगे| लेकिन उस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है|

आपको हंसना है, गाना है, मुस्कुराना है, गुनगुनाना है, नाचना है तो किसी के कहने के कारण मत रुकिए ऐसा कर लीजिए|

“Just play. Have fun. Enjoy the game.”

समस्या पर फोकस  मत कीजिये |  समाधान पर ध्यान केंद्रित करें|  जो आप कर सकते हो वो कर डालिए और उसके बाद भी ठीक ना हो तो फिर भगवान के ऊपर छोड़ दें|

बैलगाड़ी के नीचे चलने वाली लोमड़ी की तरह मत बनो जो यह सोचती है कि बैलगाड़ी मेरी वजह से चल रही है|

समस्या पैदा करने वाली चीजों की कमी नहीं है|  जहां देखो वहां समस्या का स्रोत नजर आएगा लेकिन उस पर ध्यान मत दें|

“The secret of life is enjoying the passage of time.”

आपने सुना होगा खूब मेहनत करो, लगे रहो, दिन रात एक कर दें, लेकिन अपने लक्ष्य को इतना भी महत्वपूर्ण मत बनाइए कि दिन-रात एक करते करते करते आपके शरीर के ही दिन रात एक हो जाए| फिर ना दिन को चैन आए ना रात को नींद |

उतना ही कीजिए जितना आप कर सकें| शरीर से भी उतना ही करवाइए जितना वो कर सके| सारे काम खुद मत कीजिए| जो काम दूसरे कर सकते हैं| उन्हें दूसरों से ही करवाइए|

चीजों को ज्यादा बेहतर करने की जिद कई बार उन्हें बिगाड़ देती है| जो चाहते हैं वही करिए|  मजदूर बनकर नहीं बल्कि दिल लगाकर, गुनगुना कर|  यकीन मानिए जो आपको पसंद है उसे आप करेंगे तो उसे करते हुए भी आप गुनगुनाने लगेंगे|

“There is no way to happiness – happiness is the way.”

धन्यवाद

Atulsir-Mob-Emailid-Newspuran-02

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



नवीनतम पोस्ट



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ