मप्र: पन्ना में बुखार का कहर, एक माह में चार मरीजों की मौत और दर्जनों बीमार..


स्टोरी हाइलाइट्स

छगम्मा आदिवासी बस्ती में रहने वाले लोगों ने बताया कि न तो उनके आयुष्मान कार्ड जारी किए गए हैं और न ही उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोई..

मप्र: पन्ना में बुखार का कहर, एक माह में चार मरीजों की मौत और दर्जनों बीमार..  छगम्मा आदिवासी बस्ती में रहने वाले लोगों ने बताया कि न तो उनके आयुष्मान कार्ड जारी किए गए हैं और न ही उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोई सुविधा मिली है. लोगों का कहना है कि इस वार्ड में न फॉगिंग मशीन है और न ही मच्छरों से बचाव के लिए स्प्रे। इस बार जहां डेंगू के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं, वहीं अब सर्दी और वायरल फीवर के मरीजों की संख्या में भी इजाफा साफ देखा जा सकता है. राज्य के पन्ना जिले के हालात ऐसे हैं कि पिछले कुछ दिनों में जिले में सर्दी जुखाम से बीमार हुए चार मरीजों की मौत हो गई है. जबकि जिले में अब भी दर्जनों मरीज बीमार हैं। ये भी पढ़ें.. मध्यप्रदेश: बिना अनुमति के बिल्डर नहीं बना सकेंगे निर्माण दरअसल, पन्ना जिले के गुनौर नगर के वार्ड नंबर 15 जहां छगम्मा आदिवासी बस्ती है. वहां पिछले तीन माह से ट्रांसफार्मर खराब होने से बिजली आपूर्ति ठप है। जिस कारण पिछले तीन माह से इस वार्ड में रोशनी नहीं है। जिससे यहां के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस वजह से बच्चे सर्दी-जुकाम से पीड़ित हो रहे हैं। यही कारण है कि पिछले एक माह में क्षेत्र के 4 वयस्कों की सर्दी बुखार से मौत हो गई है। लोगों का कहना है कि न तो उनके आयुष्मान कार्ड जारी किए गए हैं और न ही उन्हें स्वास्थ्य विभाग से कोई सुविधा मिली है. लोगों का कहना है कि जिला अस्पताल द्वारा पूर्व में मरने वाले लोगों के बारे में प्लेटलेट की कमी की सूचना दी गई थी, जिसके कारण उनकी मृत्यु हो गई। उनका कहना है कि नगर परिषद के पास गुनौर वार्ड में फॉगिंग मशीन नहीं है और मच्छरों से बचाव के लिए स्प्रे भी नहीं है. इन्हीं मरीजों की मौत के बाद से प्रशासन हाई अलर्ट पर है। एसडीएम, महिला एवं बाल विकास के साथ स्वास्थ्य कर्मियों ने वार्ड का जायजा लिया. वार्ड के बीमार लोगों को गुन्नौर स्वास्थ्य केंद्र में स्थानांतरित कर दिया गया है और गंभीर व्यक्ति को जिला अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। एसडीएम ने बताया कि वार्ड में सभी बच्चों व बड़ों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है और सीएमओ को बुलाकर व्यवस्था की जा रही है. स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ाई सक्रियता: रोशनी के अभाव में मच्छरों का प्रकोप भी तेजी से बढ़ा है। जिससे डेंगू के मरीज आ रहे हैं। वहीं, स्वास्थ्य विभाग ने अब पन्ना जिले की अन्य तहसीलों और ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है.
News Puran Desk

News Puran Desk