मप्र सरकार ने सांड नसबंदी का आदेश लिया वापस, साध्वी प्रज्ञा ने विशेष साजिश का लगाया आरोप

मप्र सरकार ने सांड नसबंदी का आदेश लिया वापस, साध्वी प्रज्ञा ने विशेष साजिश का लगाया आरोप
नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में एक सरकारी आदेश पर इतना विवाद हुआ कि सरकार को आखिरकार इसे वापस लेना पड़ा। दरअसल पशुपालन विभाग ने पूरे क्षेत्र में अनुपयोगी बैलों की नसबंदी करने का आदेश जारी किया था। लेकिन भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के विरोध के अगले दिन विभाग ने आदेश वापस ले लिया। पशुपालन विभाग ने बुधवार शाम को आदेश निरस्त करने की घोषणा करते हुए कहा, ''पशुपालन विभाग को बैलों की बढती संख्या कों देखते हुए नसबंदी के लिए एक कार्यक्रम आयोजित करना था, लेकिन वह अभियान आज बुधवार को स्थगित कर दिया गया है। ''पशुपालन एवं डेयरी विभाग के निदेशक डॉ. आरके मेहिया ने अभियान को स्थगित करने का आदेश जारी किया है।

Sadhvi PRagya


सांडमप्र सरकार द्वारा आदेश वापस लेने के बाद, साध्वी प्रज्ञा ने कहा, "मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल से आदेश के बारे में बात की थी। इसके बाद आदेश रद्द कर दिया गया है। मध्य प्रदेश सरकार के पशुपालन विभाग ने अनुपयोगी बैलों की संख्या में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए सभी जिला कलेक्टरों को 4 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक उन्मूलन अभियान चलाने का आदेश जारी किया था। इसके लिए गांव या गौशाला में सभी अनुपयोगी बेकार बैलों की नसबंदी करने का आदेश जारी किया था। एक तरफ चरवाहों और हिंदू संगठनों ने आदेश का विरोध किया तो दूसरी तरफ बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने भी नसबंदी पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि जैसे ही उन्हें गलत और निर्मम तरीके से मवेशियों की नसबंदी की जानकारी मिली तो उन्होंने भोपाल कलेक्टर, पशुपालन मंत्री और मुख्यमंत्री से इस आदेश पर तत्काल रोक लगाने का अनुरोध किया।


प्रकृति के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए : प्रज्ञा सिंह ठाकुर



उन्होंने कहा कि प्रकृति से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। यदि देशी जानवरों की नसबंदी की जाती है, तो पूरी प्रजाति का सफाया हो जाएगा। संयुक्त नसबंदी आदेश रद्द होने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने कहा, "मुझे लगता है कि यह आदेश एक आंतरिक साजिश है, हमें सावधान रहने की जरूरत है। देसी गौवंश को नष्ट नहीं करना चाहिए। मैं मुख्यमंत्री के समक्ष इस मामले की जांच की मांग करूंगी।


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ