अब राजस्व मंडल हाईकोर्ट की तरह चलेगा, डबल बैंच भी होगी.. डॉ. नवीन जोशी


स्टोरी हाइलाइट्स

भोपाल: पिछले इकसठ सालों से विभिन्न नियमों एवं अधिसूचनाओं के तहत चल रहे राजस्व मंडल का संचालन अब.............

अब राजस्व मंडल हाईकोर्ट की तरह चलेगा, डबल बैंच भी होगी.. डॉ. नवीन जोशी   भोपाल: पिछले इकसठ सालों से विभिन्न नियमों एवं अधिसूचनाओं के तहत चल रहे राजस्व मंडल का संचालन अब नये नियमों के तहत होगा। राज्य सरकार ने पुराने सभी प्रावधान खत्म कर नये नियम जारी कर दिये हैं। अब राजस्व मंडल हाईकोर्ट की तरह चलेगा तथा इसकी डबल बैंच भी बनेगी। आगामी 18 सितम्बर के बाद ये नये नियम प्रभावशील कर दिये जायेंगे।   नये नियमों में प्रावधान किया गया है कि राजस्व मंडल रेवेन्यु केस मेनेजमेंट सिस्टम की तरह अपने प्रकरणों की सुनवाई करेगा। उसका रोस्टर भी बनेगा। इसके लिये वह अपने पोर्टल में प्रावधान करेगा। मंडल में रकजस्ट्रार एवं उप रजिस्ट्रार की नियुक्तियां की जायेंगी। रजिस्ट्रार किसी आवेदन, उत्तर, प्रत्युत्तर, जवाब अथवा शपथ-पत्र में किन्हीं लिपिकीय त्रुटियों में सुधार करने की अनुमति दे सकेगा। मंडल का कार्यालय अवकाश के दिनों को छोडक़र प्रतिदिन प्रात: साढ़े दस बजे से सांय साढ़े चार बजे तक चलंगा तथा दोपहर डेढ़ बजे से दो बजे तक आधा घण्टे का मध्यावकाश रहेगा।       मंडल की भाषा मुख्यत: हिन्दी होगी लेकिन अंग्रेजी भाषा भी स्वीकार की जा सकेगी। अन्य भारतीय भाषाओं में आवेदन आने पर उसका हिन्दी अनुवाद संलग्र करना होगा। यदि आवेदक निरक्षर है तो किसी अन्य साक्षर व्यक्ति के हस्ताक्षर से आवेदक के अंगूठे के चिन्ह को सत्यापित किया जायेगा। नये नियमों में राजस्व मंडल में वकालत करने वाले वकीलों के क्लर्कों के रजिस्ट्रेशन का भी प्रावधान किया गया है। ऐसा रजिस्टर्ड क्लर्क ही मंडल के कार्यालय में प्रवेश कर पायेगा।