हमारा देश भारत : एक परिचय

हमारा देश भारत : एक परिचय

हमारा देश भारत एक प्राचीन देश है। पहले इसे'आर्याव्रत'के नाम से जाना जाता था, क्योंकि इसके पूर्व निवासी आर्य थे। इसका नाम'भारत' महाप्रतापी राजा दुष्यंत और शकुंतला के सिंह के समान शक्तिशाली पुत्र'भरत'के नाम पर रखा गया। आज से कई शताब्दियों पहले संपूर्ण विश्व इस देश का लोहा मानता था|भारत को सोने की चिड़िया भी कहते थे| यहां का शासक चक्रवर्ती सम्राट के रूप में पूजा जाता था। यहां की सभ्यता,संस्कृति,वास्तुकला,ललित कला तथा अन्य कलाएं सर्वत्र प्रसिद्ध थीं।


इसके उज्ज्वल भाल के रूप में पर्वतराज हिमालय शोभायमान है, इसकी पवित्र धारा में से गंगा,यमुना और सतलुज जैसी असंख्य नदियों का जल प्रवाहित होता है तथा इसके साथ-साथ इसके गर्भ में से सोना, चांदी, तांबा और लोहा आदि विभिन्न प्रकार की धातुएं निकलती हैं।

'धरती का स्वर्ग' कहे जाने वाले कश्मीर,नैनीताल,अल्मोड़ा,पिथौरागढ़,शिमला,डलहौजी,कुल्लू-मनाली आदि प्राकृतिक स्मरणीय स्थलों ने हमारे देश भारत को स्वर्गतुल्य बना दिया है।

हमारे देश भारत के वासी लगभग 300 सालों तक विदेशियों के गुलाम रहे। 15 अगस्त, 1947 को हमारे देश भारत ने जब स्वतंत्रता का सूर्य देखा तो उनके चेहरों पर छाए परतंत्रता के काले बादल छंटते चले गए। हालांकि हमारे देश भारत को अपनी स्वतंत्रता की कीमत अपनी शस्य श्यामला धरती के दो टुकड़े करके चुकानी पड़ी थी, फिर भी इसकी शानो-शौकत पहले की तरह बरकरार रही। आज भारत की शान और ताकत दोनों पहले से कहीं ज्यादा हो गया है और निरंतर बढता ही जा रहा है| 

हमारे देश भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी है राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ के सिंह हैं राष्ट्रीय ध्वज चक्रांकित तिरंगा है। 'जन-गण-मन...' राष्ट्रीय गान है। 'वंदे मातरम...' राष्ट्रीय गीत है। राष्ट्रीय पशु बाघ है और राष्ट्रीय पक्षी मोर है|महानगरी दिल्ली को हमारे देश भारत की राजधानी होने का सौभाग्य प्राप्त है।

हमारे देश भारत का विस्तार उत्तर से दक्षिण तक 3214 कि.मी. और पूर्व से पश्चिम तक 2933 कि.मी. है। इसकी भूमि सीमा लगभग 15.200 किलोमीटर है। लक्षद्वीप समूह और अंडमान निकोबार द्वीप समूह के समुद्र तट की कुल लंबाई 751.66 किलोमीटर है। राज्यों का संघ हमारा देश भारत एक संपूर्ण प्रभुतासम्पन्न समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य है, जिसमें संसदीय प्रणाली की सरकार है। 

भारत में 28 राज्य और 8 केंद्रशासित प्रदेश हैं। केंद्रशासित प्रदेश दिल्ली को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का दर्जा प्राप्त है। हमारे देश भारत के राज्यों को निम्नलिखित राजनैतिक विभागों में भौगोलिक स्थिति के अनुसार बांटा जा सकता है|

 उत्तरी भारत : इसके अंतर्गत जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तरांचल, बिहार, झारखंड, पंजाब, हरियाणा, इत्यादि राज्यों को शामिल किया जा सकता है। 

उत्तर-पश्चिमी भारत : इस भौगोलिक क्षेत्र के अंतर्गत गुजरात, राजस्थान इत्यादि राज्यों को शामिल किया जा सकता है।

दक्षिण भारत : दक्षिण भारत के राज्यों में केरल को शामिल किया जा सकता है। कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश एवं

पूर्वोत्तर भारत : पूर्वोत्तर भारत के अंतर्गत सिक्किम, असम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड एवं त्रिपुरा को रखा जा सकता है। 

भारत में वर्तमान में निम्नलिखित केन्द्र शासित क्षेत्र हैं :-
  1. दिल्ली - यह भारत का राष्ट्रीय राजधानी प्रदेश भी है।
  2. अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह
  3. चण्डीगढ़
  4. दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव
  5. लक्षद्वीप
  6. पुदुचेरी
  7. जम्मू और कश्मीर - 5 अगस्त 2019 को घोषित और 31 अक्टूबर 2019 से प्रभावी।
  8. लद्दाख़ - 5 अगस्त 2019 को घोषित और 31 अक्टूबर 2019 से प्रभावी
हमारे देश भारत की शस्य श्यामला भूमि बहुत उपजाऊ है। यहां के 70 प्रतिशत वासी कृषि-उद्योग में संलग्न हैं। यहां के कुटीर व लघु उद्योग तीव्रता से प्रगति की राह पर अग्रसर हैं। वर्तमान समय में यहां की बहुत-सी वस्तुएं अन्य देशों को निर्यात की जाती हैं जिनमें कपास, चमड़ा, ऊन, चावल, मसाले-तिलहन, सिलाई की मशीनें और साइकिलें उल्लेखनीय हैं। हमारे देश की पंचवर्षीय योजनाएं पूर्ण हो चुकी है। इन योजनाओं के अंतर्गत हमारे देश ने बहुत प्रगति की है। अब हमारा देश भारत सशक्त व स्वावलंबी है। कारगिल युद्ध की महान विजय इसकी साक्षी है।

पंचशील व सह अस्तित्व में आस्था रखने के कारण हमारा देश भारत विश्व में आदरणीय है। अब वह दिन दूर नहीं जब हमारा महान देश भारत विश्व का अग्रणी बनेगा।

हर देश में उसकी खुद की प्राकृतिक सुन्दरता रहती है|उसी सुन्दरता को देखने के लिए जनता उनके पास जाती है| उसी को पर्यटन स्थल बोला जाता है| हमारा देश ऐसे ही खूबसूरत पर्यटन इस्थल से भरा हुआ है| भारत देश में दुनिया के कई बेहतरीन पर्यटन स्थल है| आगे वाले कुछ अंश में हम आपको भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानकारी देंगे|


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ