Puran Media Special: 21वी सदी का सबसे बड़ा अनुष्ठान, भगवान राम की नगरी अयोध्या में दिवाली शुरू

Puran Media Special: 21वी सदी का सबसे बड़ा अनुष्ठान, भगवान राम की नगरी अयोध्या में दिवाली शुरू

24 घंटे बाद भूमि पूजन है लेकिन उसके पहले का अनुष्ठान शुरू हो चुका है। कल दोपहर भारत की सभ्यता और अस्तित्व के प्रतीक मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के मंदिर की नींव PM Modi रखेंगे। जिस घड़ी का इंतजार देश के करोड़ों हिंदुओं को सदियों से था वो घड़ी बस उंगलियों पर गिनी जा सकती है। 

कल का सूरज उगते ही अयोध्या(Ayodhya) एक नए इतिहास की इबारत लिखेगा। अयोध्या(Ayodhya) में राममंदिर निर्माण की पहली ईंट रखी जाएगी और इसी के साथ वहां भव्य राममंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। PM Modi अपने हाथों से मंदिर निर्माण की पहली ईंट रखेंगे।

कल दोपहर 12.15 बजे का शुभ मुहूर्त है। अयोध्या(Ayodhya) में भूमिपूजन की तैयारी करीब-करीब पूरी हो चुकी है। इस बीच वहां इस खास कार्यक्रम से पहले सुरक्षा व्यवस्था भी की गई है। खुफिया एजेंसियां High Alert पर है। शिलान्यास का प्रोग्राम को देखते हुए ड्रोन से भी नजरें रखी जा रही हैं। अलग-अलग सुरक्षा बलों की 50 से ज्यादा कंपनियां लगाई गई हैं। इसके साथ ही 8 पुलिस अधिक्षकों की भी तैनाती की गई है।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र  Trust ने कई ट्वीट और संवाददाता सम्मेलन में बताया कि मुख्य समारोह के लिए आमंत्रित किए गए 175 लोगों में से 135 संत हैं जो विभिन्न आध्यात्मिक परंपराओं का हिस्सा हैं। Trust ने यह भी कहा कि Coronavirus महामारी के कारण धार्मिक नेताओं सहित कुछ अतिथियों को भूमि-पूजन समारोह में शामिल होने में कुछ दिक्कतें आ रही हैं। 

राम मंदिर आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली और बाबरी मस्जिद ध्वंस मामले में आरोपी भाजपा की अनुभवी नेता उमा भारती ने कहा कि Coronavirus के कारण वह भूमि पूजन में भाग नहीं लेंगी। उमा भारती  ने कहा कि वह पूजन समाप्त होने के बाद अपनी पूजा करेंगी। Trust ने श्रद्धालुओं से कहा है कि Covid-19 से जुड़ी पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए वे अयोध्या(Ayodhya) के बाहर ही ‘‘भजन-कीर्तन’ का आयोजन करें।

भूमि पूजन में आमंत्रित अतिथियों में इकबाल अंसारी भी शामिल हैं। वह मंदिर-मस्जिद विवाद मामले में पक्षकार थे। 69 वर्षीय अंसारी ने कहा, ‘‘मैं इसमें पक्का हिस्सा लूंगा। न्यायालय(Court) के फैसले के बाद अब विवाद खत्म हो गया है।’’ अंसारी के पिता हाशीम अंसारी इस मामले में सबसे पुराने पक्षकार थे, जिनकी 2016 में मृत्यु(Death) हो गई। 

उनके बाद बेटे ने इस मुकदमे को अदालत में जारी रखा। उनके परिवार के सदस्यों ने बताया कि अयोध्या(Ayodhya) के एक सामाजिक कार्यकर्ता मोहम्मद शरीफ को भी कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया गया है लेकिन वह बड़ी उम्र और बीमारी के कारण इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे।

 कार्यक्रम के दौरान मंच पर सिर्फ पांच लोग होंगे। PM मोदी, RSS प्रमुख मोहन भागवत, Trust प्रमुख महंत नृत्य गोपालदास महाराज,  उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और CM योगी आदित्यनाथ। वामपंथी दलों ने कार्यक्रम का विरोध करते हुए कहा है कि केन्द्र और राज्य सरकार के तत्वाधान में भूमि पूजन का आयोजन उच्चतम न्यायालय(Supreme Court)) के आदेश के विरूद्ध है जिसने इसके लिए ट्रस्ट के गठन का आदेश दिया था। भाकपा और माकपा ने अलग-अलग बयान जारी कर कहा कि फैसला सुनाते हुए उच्चतम न्यायालय(Supreme Court))  ने 1992 में बाबरी मस्जिद गिराए जाने की घटना की निंदा की थी।

NEWS PURAN DESK 1



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ