हिंदू धर्म में कई भगवान होने के निम्न कारण हैं:

Hindudhram-Newspuran-22May

हिंदू धर्म में कई भगवान होने के निम्न कारण हैं:

१. चूँकि हिन्दू-धर्म खोज पर केंद्रित है, अलग अलग हिंदू देवी-देवता ख़ास गुण का प्रतिनिधित्व करते हैं जिन पर हमें केंद्रित होने की ज़रूरत है। जैसे शिव तपस्या का प्रतिनिधित्व करते हैं, शक्ति पराक्रम का और लक्ष्मी धन का और हिंदू धर्म के लोग अपने जीवन में इन सारे गुनो को ईश्वर के माध्यम से अपनाना चाहते हैं। बस ये मान लीजिए की हिंदू धर्म के सारे त्योहार कई देवी-देवताओं के माध्यम से कहीं ना कहीं उन सारे गुण का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसीलिए हिंदू धर्म में कई भगवान हैं|

२. हम त्योहारों के माध्यम से ईश्वर को जान तो लेते हैं पर सिर्फ़ यही काफ़ी नहीं है। अब अगले स्तर पर बात ‘इष्टदेवता’ की कर लेते हैं, मतलब इन सारे देवी देवताओं में आपके पसंदीदा कौन से हैं? भारत विविधताओं का देश है, सारे भारतवासी एक जैसे नहीं है, अलग-अलग हैं, अलग कपड़े पहनते हैं, अलग भाषा बोलते हैं, उनकी विचारधारा अलग है, अलग प्रान्त में रहते हैं, उनके गुण-अवगुण भी अलग अलग हैं पर ‘इष्टदेवता’ का चुनाव करके हम उन गुण के प्रति ज़्यादा केंद्रित हो सकते हैं जिनकी हमें ज़्यादा ज़रूरत है। अगर हम माँ सरस्वती की पूजा करते हैं इसका मतलब यही है कि हमें ज्ञान के प्रति ज़्यादा रुझान है, हमें ज्ञान की ज़रूरत है।

३. हमें सारे देवी देवताओं की पूजा करने की आवश्यकता भी नहीं है| हिंदू धर्म में ईश्वर को अपनाना स्कूल के पाठयक्रम जैसा है, आप बचपन में सारे विषय पढ़ते हैं पर विशेषज्ञता उसी विषय में ही हासिल करते हैं जिसमें आपकी रूचि हो। इसीलिए सारे देवी देवताओं को जानिए पर जिनसे आप हृदय से जुड़ पाएँ, उनको अपना लीजिए। बड़ा सरल सा है। :)

४. याद कीजिए, बचपन में आपकी माँ ने ज़रूर आपको गिनती या पहाड़ा सिखाया होगा, कितनी बार ख़ुद गिनती की होगी ताकि आपकी स्मरण में गिनतियाँ आ सकें, पर जब आप एक बार गिनती सीख जाते हैं तो आपकी माँ को गिनती करने की आवश्यकता नहीं रह जाती। हिंदू देवी-देवताओं का उद्देश्य भी आपको अपने मार्ग तक पहुँचाना है। एक बार आपने अपने मार्ग को पहचान लिया फिर देवी-देवताओं, मूर्ति या आकार की ज़रूरत भी नहीं पड़ेगी। पर चूँकि मार्ग अलग-अलग हैं, इसीलिए अलग-अलग देवी देवता।

गिनती शायद आपकी माँ आपको बेहतर सिखा सखे पर अंग्रेज़ी भाषा शायद आपकी बहन या भाई? आप समझ गए होंगे में क्या कहना चाहता हूँ।

५. सारे हिंदू एक ही परमात्मा की पूजा करते है पर सिर्फ़ अलग अलग नाम से। वो इसलिए क्योंकि भारत विभिन्न भाषाओं और संस्कृति का देश है, हरेक भारतवासी अपने तरीक़े से अपने भगवान को समझता है और उनकी पूजा करता है।


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ