भगवान को रिझाने के लिए भी संवाद-कला चाहिए… बेहतर कम्युनिकेशन स्किल के लिए क्या-क्या जरूरी है?

Tips for Improving Your Communications Skills,Improving Communication – Skills You Need,Effective Communication,How to Speak Well?

  • हर क्षेत्र में बेहतर कम्युनिकेशन स्किल जरूरी है| हर व्यक्ति को अपनी बात सही ढंग से रखनी आनी चाहिए, धर्म गुरु हो या राजनेता, बिजनेसमैन हो या नौकरीपेशा , छात्र हो या शिक्षक सबको संवाद की कला( Communication Skill ) सीखनी चाहिए| 
  • यदि आपको बातचीत की कला नहीं आती तो आप अधूरे हैं| कम्युनिकेशन स्किल के बिना सफलता  मुमकिन नहीं है|
  • बातचीत में हमारे शब्द और वाक्य मैटर करते हैं|
  • बातचीत में हमारे हाव-भाव का भी महत्व है|
  • संवाद की कला यानी बेहतर कम्युनिकेशन स्किल आज की जरूरत है| दुनिया में साधारण से साधारण लोगों ने अपनी कम्युनिकेशन की कला के दम पर बड़ा मुकाम हासिल किया है| परमात्मा तक अपनी बात पहुछाने के लिए भी संवाद कला चाहिए 
  • रिश्ते-नाते हों, व्यापार-व्यवहार हो हर जगह बोलने की कला काम आती है|
  • अच्छे ढंग से अपनी बात को  कम्युनिकेट करने वाला व्यक्ति किसी के भी दिल में उतर जाता है|
  • आपके शब्द किसी को रास्ते पर ला सकते हैं तो किसी को गुमराह भी कर सकते हैं|
  • आपकी बातें आपका काम बना सकती हैं तो बिगाड़ भी सकती हैं|
  • शब्दों में जादू है तो शब्दों में विनाश भी छिपा है|  महाभारत की लड़ाई के पीछे द्रोपदी के दो शब्द ही तो थे|
  • कम्युनिकेशन स्किल में शब्दों का चयन बहुत महत्वपूर्ण है|  आपके शब्द आपकी भावनाओं को स्पष्ट करते हों | आप जो कहना चाहते हो आपके शब्द वही बोलें| शब्द आसान हो सीधे सपाट|  
  • घुमा फिरा कर की गई बात किसी को पसंद नहीं आती| कुछ लोग तो शब्दों के मामले में बेहद कंगाल होते हैं इसलिए शब्दों का चयन इस तरह से करें कि वह एक आम व्यक्ति को भी आसानी से समझ आये|
  • हम सब ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां पर संवाद की पल पल पर जरूरत होती है|  संवाद में सिर्फ शब्द ही काफी नहीं हैं| 
  • संवाद का अर्थ सिर्फ बोलना नहीं है संवाद का अर्थ सामने वाले को समझना भी है|
  • दो लोगों में संवाद तब होता है जब दोनों एक दूसरे को न सिर्फ सुनते हैं बल्कि गहराई से समझते हैं|
  • लगातार बोले जाना अच्छे कम्युनिकेशन स्किल के लिए सबसे खराब बात मानी जाती है|
  • भगवान ने एक और दो कान इसलिए दिया हैं  ताकी आप जितना बोले उससे दुगना सुने|
  • सुनने का मतलब चुप बैठना नहीं है, सुनने का मतलब है किसी व्यक्ति की बात के पीछे के भाव को समझने की कोशिश करना|
  • जल्दबाजी में किसी व्यक्ति की बातों का गलत अर्थ ना निकाले|
  • बोलते समय ऐसी बात ना बोले इसका गलत अर्थ निकाला जाए| याद रखिए दुनिया में ना बोलने से जितना नुकसान नहीं हुआ जितना बोलने से हुआ|
  • ज्यादा बोलने वाला व्यक्ति एक समय बाद कुछ ना कुछ ऐसा बोल जाता है जो अर्थ का अनर्थ कर देता है|
  • अपनी बातचीत में बेवजह के मुहावरे और व्यंगात्मक भाषा शैली के इस्तेमाल से बचें|
  • बॉडी लैंग्वेज यानी हाव-भाव  महत्वपूर्ण है लेकिन बहुत ज्यादा बॉडी लैंग्वेज हमेशा फायदेमंद नहीं होती|
  • नकली प्रशंसा या चापलूसी के शब्द हमेशा पकड़ में आ जाते हैं|  किसी व्यक्ति को झूठी बातों से प्रभावित करने की कोशिश ना करें ना ही झूठी तारीफ करें|  यदि किसी की तारीफ करना हो तो हमेशा उसके सच्चे गुणों की तारीफ करें| याद रखिए हर व्यक्ति अपने अच्छे-बुरे गुणों को बहुत अच्छे ढंग से जानता है| आपकी झूठी तारीफ वह तुरंत पकड़ सकता है|
  • जब भी आप बोलें तो सामने वाले के मनोविज्ञान को समझने की कोशिश करें| कोई व्यक्ति किसी बात को बहुत जल्दी समझ लेता है| कोई व्यक्ति देर में|  हर व्यक्ति से एक ही तरह बात ना करें, उसके मनोविज्ञान को समझकर उसकी काबिलियत के अनुसार ही बात करें|
  • किसी की अनचाही बात पर तुरंत  रिएक्शन ना दें| थोड़ा इंतजार करें और सोच समझकर अपनी बात रखें|  बात काटने की आदत बहुत बुरी होती है इससे हमेशा बचें| किसी का मजाक कभी ना उड़ायें|  
  • न बहुत तेज बोले न धीरे| बातचीत में मित्रता पूर्ण रहें|  रौब ना दिखाएं| 
  • अपनी झूठी प्रशंसा ना करें| डींगें न हांकें| 
  • जटिल मुद्दों पर डिस्कशन से पहले अच्छी बातों के साथ चर्चा शुरू करें|
  • बातचीत के दौरान सेल्फ कॉन्फिडेंस लूज ना करें|बातचीत में किसी के बारे में भी असम्मानजनक भाषा का उपयोग ना करें|  किसी और की बुराई भी बिल्कुल ना करें| शुरू से आखिर तक अपना टेंपो बनाए रखें ना बहुत उत्साहित हो नाही निराश|

अतुल विनोद

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ