अपने घर में वास्तु और पितृदोष निवारक, समृद्धिकारक नागेश्वर जड़ी

अपने घर में वास्तु और पितृदोष निवारक, समृद्धिकारक नागेश्वर जड़ी
यह एक बहुत ही पवित्र और प्रभावशाली वनस्पति है। मेंहदी के फूलों की भाँति नागेश्वर (नागकेशर) के गुच्छे और दाने पूजा-पाठ हेतु पवित्र हैं। आयुर्वेद की दृष्टि से यह पोषक, सौन्दर्यवर्द्धक और कीटाणुनाशक होती है।

अध्यात्म के क्षेत्र में 'नागेश्वर' को बहुत उच्चस्थान प्राप्त है, क्योंकि यह शिव जी को बहुत प्रिय है। भगवान् शिव पर नागकेशर अर्पित करने वाला साधक शिवकृपा का पात्र अवश्य बनता है और नागेश्वर द्वारा शिवजी की पूजा से साधक को भौतिक सुख-समृद्धि प्राप्त होती है।

ये भी पढ़ें.. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में फिश एक्वेरियम रखना कैसा रहेगा..


नागकेशर पोटली एक नवीन पीत (पीले) वस्त्र में नागकेशर, 4 हल्दी की गाँठें, 9 सुपारी, एक ताँबे का या सादा सिक्का, एक ताँबे का पत्र, अक्षत (बिना टूटे चावल) रखकर पोटली बना लें, इस पोटली को गुरुवार या शुक्रवार के दिन रुद्राभिषेक पूजन इत्यादि से सिद्ध कर लें, फिर अलमारी, तिजोरी, गल्ले या भण्डार में कहीं भी रखकर प्रतिदिन इस पोटली पर चंदन इत्र लगाकर 108 बार ॐ नमः शिवायः नमः शिवाय नमः मंत्र का जाप करें।

ये भी पढ़ें.. वास्तु टिप्स: घर की तिजोरी इस दिशा में होनी चाहिए

कुछ दिनों में इस पोटली के सिद्ध होते ही चमत्कारी परिणाम मिलने लगेंगे। सारी बाधाओं, परेशानियों से छुटकारा मिलने लगेगा। व्यापार, धंधे, नौकरी आदि में परेशानी दूर होकर सुख समृद्धि आने लगती है। यह परम समृद्धि दायक सिद्ध प्रयोग है।

विशेष एक वर्ष पश्चात् पुनः नई पोटली रखें तथा पुरानी पोटली किसी अन्य भण्डार में रखें। अथवा नदी, कुँए में बहा देवें। इसका प्रयोग वही साधक करें जो धन, तंगी से जूझ रहे हों ।

ग्रह, नक्षत्र व राशि व्यक्ति के द्वारा किये गये प्रतिक्षण के कर्मों के साक्षी हैं।

ये भी पढ़ें.. वास्तुशास्त्र और स्वास्थ्य में गहरा सम्बन्ध -दिनेश मालवीय


 

EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


    श्रेणियाँ