Immunity बढ़ाने के लिए क्या खाएं

Weak Immune System Symptoms: ऐसे पहचानें, कहीं कमजोर तो नहीं Immunity

प्रतिरक्षा तंत्र के कमजोर होने का प्रमुख लक्षण बार-बार संक्रमण होना ही है। इन्हें बाकी लोगों की तुलना में ज्यादा जल्दी इंफेक्शन होता रहता है और ये बीमारियां ज्यादा गंभीर और इलाज के लिए मुश्किल हो सकती हैं।

How To Boost Immunity Naturally:

कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों का सवाल होता है कि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं (What To Eat To Increase Immunity). हम आपको यहां कुछ ऐसे फूड्स के बारे में भी बताएंगे जो इम्यूनिटी बढ़ाने में फायदेमंद हो सकते हैं, लेकिन सबसे पहला जो सवाल सबके दिमाग में आता है वह यह है कि इम्यूनिटी कमजोर (Weak Immunity) है या मजबूत इसका पता कैसे करें. कमजोर इम्यून सिस्टम के लक्षण (Symptoms Of Weak Immune System) क्या होते हैं.
मजबूत इम्यूटनिटी वाले लोगों की तुलना में इन्हेंn संक्रमण से लड़ने में भी दिक्कंत होती है। कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों में निमोनिया, मेनिनजाइटिस, ब्रोंकाइटिस और त्वचा संक्रमण का खतरा अक्सर बना रहता है। ये संक्रमण व्यक्ति को बार-बार परेशान करते हैं।

वहीं कमजोर इम्यूवनिटी के अन्य लक्षणों में ऑटोइम्यू।न डिस्ऑयर्डर, आंतरिक अंगों में सूजन, खून से संबंधित विकारों या असामान्यताओं जैसे कि एनीमिया, पाचन से जुड़ी परेशानियां जैसे कि भूख कम लगना, दस्त या पेट में ऐंठन, बच्चों और नवजात शिशु के विकास में देरी होना शामिल हैं।

कमजोर इम्यून सिस्टम के होते हैं ये लक्षण | These Symptoms Are Weak Immune System

1. बीमार रहना
कई लोग अक्सर बीमार पड़ते रहते हैं चाहे वह नॉर्मल खांसी-जुकाम या बुखार ही क्यों न हो. बार-बार बीमार पड़ जाना लो इम्यूनिटी का प्रमुख लक्षण है. ऐसे कई लोग होते हैं जो इन सब चीजों पर ध्यान नहीं देते हैं लेकिन बार-बार बीमार पड़ना आपके कमजोर इम्यून सिस्टम का लक्षण हो सकता है.

2. एलर्जी होना
अगर आपको बार-बार किसी न किसी तरह की एलर्जी की समस्या रहती है तो आपको समझ जाना चाहिए कि आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है. अक्सर कुछ लोगों को एलर्जी हो जाती है चाहे वह पेट की एलर्जी हो, स्किन की एलर्जी हो या किसी और तरह की अगर आपको बा-बार होती है ये कमजोर इम्यूनिटी का संकेत हो सकता है.

3. हर समय थकान होना
कुछ लोगों को अत्यधिक थकान महसूस होती है. हर समय थकान लगना कमजोर इम्यूनिटी का लक्षण हो सकता है. अगर आपको बिना कुछ काम किए भी हर समय थकान महसूस होती है तो ये कमजोर इम्यूनिटी का संकेत हो सकता है.
Weak Immune System Sign: कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से बहुत ज्यादा थकान हो सकती है

4. घाव भरने में समय लगना
चोट हर किसी को लगती है, लेकिन कई लोगों के घाव जल्दी भर जाते हैं तो कुछ लोगों के घाव भरने में समय लगता है. अगर आपके घाव भरने में काफी समय लग जाता है तो आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है. अगर आपके शरीर में कहीं पर घाव हो जाए और वो एकदम से न भरें तो ये लो इम्यूनिटी का संकेत है.

5. पाचन खराब रहना
अक्सर पाचन खराब रहना, कब्ज, गैस, पेट दर्द और पेट फूलने जैसी समस्याएं भी कमजोर इम्यून सिस्टम का संकेत हो सकती हैं. अक्सर पाचन संबंधित समस्याएं होने पर आपको इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करना चाहिए.

बार-बार संक्रमण होना या ऐलर्जी
अगर आपको लगता है कि आप दूसरों की अपेक्षा बार-बार बीमार होते हैं, जुकाम की शिकायत रहती है, खांसी, गला खराब होना या स्किन रैशेज जैसी समस्या रहती है तो बहुत पॉसिबल है कि यह आपके इम्यून सिस्टम की वजह से हो। कैंडिडा टेस्ट का पॉजिटिव होना, बार-बार यूटीआई, डायरिया, मसूड़ों में सूजन, मुंह में छाले वगैरह भी खराब इम्यूनिटी के लक्षण हैं।

कुछ लोग जरा सा मौसम बदलते ही बीमार हो जाते हैं। यह शरीर का तापमान कम होने से हो सकता है। मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए नॉर्मल ऑरल बॉडी टेंपरेचर 36.3 डिग्री से. से नीचे नहीं होना चाहिए। क्योंकि सर्दी के वायरस 33 डिग्री पर सर्वाइव करते हैं। रोजाना एक्सर्साइज करने से आप अपनी बॉडी का तापमान और इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं। साथ ही गर्माहट पैदा करने वाले मसाले जैसे लहसुन अदरक, दालचीनी लौंग वगैरह भी बेहद काम के हैं।

बुखार न आए तो
जब शरीर को बुखार आना चाहिए तो भी न आए इसका मतलब है कि आपकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है। बुखार से शरीर बीमारियों से लड़ता है और हम में से ज्यादातर लोग बुखार की दवा खा लेते हैं जिससे बुखार हमारे लिए पॉजिटिव तरीके से काम नहीं कर पाता। अगर आपको संक्रमण के बाद भी कई साल से बुखार न आया हो तो यह भी कमजोर इम्यूनिटी का लक्षण है।

विटमिन डी की कमी
विटमिन डी इम्यूनिटी को बढ़ाता है और ज्यादातर लोगों में इसकी कमी होती है। अगर आपकी ब्लड रिपोर्ट में विटमिन डी की कमी है तो आपको इसका लेवेल सही करने की हर कोशिश करनी चाहिए। इसके अलावा लगातार थकान, आलस या ऐसे घाव जो लंबे वक्त तक न भरें, नींद न आना, डिप्रेशन और डार्क सर्कल भी कमजोर प्रतिरोधक क्षमता की निशानी है।

क्यार करें
जिन लोगों की इम्यूंनिटी कमजोर होती है उन्हेंी स्वगस्थ, रहने और संक्रमण से बचने के लिए यहां बताई गई बातों पर ध्या न देना चाहिए :

• साफ-सफाई का ध्याटन रखें।
• तनाव से दूर रहें।
• बीमार लोगों से पर्याप्ता दूरी बनाकर रखें।
• पर्याप्तग नींद लें।
• संतुलित आहर खाएं।
• नियमित व्याएयाम करें।
हम सभी जानते हैं कि इम्यूान सिस्टीम का मजबूत होना कितना जरूरी और आज के कोराना से संक्रमण वातावरण में तो ये और भी ज्यातदा जरूरी हो जाता है। अगर आपको अपने अंदर कमजोर इम्यू्निटी के लक्षण दिख रहे हैं तो इसका इलाज जरूर करवाएं ताकि आप स्ववस्थे जीवन जी सकें। इस बात का खास ख्यारल रखें कि स्वोस्थय रह कर ही आप जीवन के अन्या सुखों को भोग सकते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खाएं ये फूड्स | Eat These Foods To Increase Immunity
1. ऑरेंज और नींबू
इनमें हाई विटामिन सी पाया जाता है जो एक इम्यूनिटी बूस्टर का काम करते हैं. इनका रोजाना सेवन करने से ये आपको हाइड्रेट रखने में भी मदद कर सकते हैं. इसके सेवन के लिए कच्चा संतरा या इसका रस लें. हर दिन नींबू का पानी पिएं या अपने सलाद और अन्य भोजन पर नींबू का रस छिड़कें.
2. दही
हर बार जब हम दही का कटोरा खत्म करते हैं, तो हमें लगता है कि हमारे सिस्टम में ताजगी की लहर दौड़ रही है. है ना? दही एक ठंडा फूड है, जो गर्मियों के लिए एकदम सही है; और इसकी प्रोबायोटिक सामग्री पाचन मुद्दों से लड़ने में मदद करती सकती है. आप यह सब पहले से ही जानते होंगे लेकिन आप जो नहीं जानते होंगे वह यह है कि दही विटामिन डी से फोर्टीफाइड होता है, जो हमारे इम्यून सिस्टम को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है.

3. ब्रोकली

ब्रोकली में भी विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है. ब्रोकोली में फाइटोकेमिकल्स और एंटीऑक्सिडेंट पाएं जाते हैं जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में सहायक हो सकते हैं. इसमें विटामिन ई भी पाया जाता है जो संक्रमण से लड़ने का काम कर सकता है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ब्रोकली का सेवन किया जा सकता है.

4. कीवी
कीवी इम्यूनिटी बढ़ाने में फायदेमंद हो सकता है. कीवी आपके पूरे दिन की विटामिन सी की जरूरत को पूरा कर सकता है. कीवी में विटामिन ई और एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती है इससे रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाई जा सकती है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ