कौन है परमात्मा और उसका वास्तविक स्वरूप क्या है? ATUL VINOD

कौन है परमात्मा और उसका वास्तविक स्वरूप क्या है? ATUL VINOD

 ईश्वर हमेशा हम सबके अट्रैक्शन का सब्जेक्ट रहा है| हम सब ईश्वर की बातें करने से नहीं थकते| हम ईश्वर, परमात्मा, भगवान, गॉड, अल्लाह के बारे में किस्से कहानियों में, ग्रंथों, पुराणों, बाइबल, कुरान में पढ़ते, सुनते आ रहे हैं|

क्या ईश्वर मनुष्य रूप में जन्म लेते हैं? क्या ईश्वर किसी स्त्री के गर्भ में आते हैं?

हम जो सुनते पढ़ते और देखते हैं उसी के आधार पर अपनी धारणा बनाते हैं| जिसके बारे में हम इतना ज्यादा सुनते हैं उसे देखने-पाने की इच्छा भी पैदा होती है| फिर हम उसकी छवि गढ़ते हैं, हम उसका आकार निर्धारित करते हैं, हम उसे किसी फॉर्मेट में ढालने लगते हैं|




real-relationship.God

जिसके बारे में इतना सुना है उसका साक्षात्कार करना हमारी प्राथमिकता में शुमार हो जाता है| ऐसा नहीं है कि यह पुराने लोगों के इंटरेस्ट का सब्जेक्ट था| हम जितना मोडर्न होते जाएंगे, उतना ज्यादा हमारी इच्छा उस परमात्मा को जानने और देखने की होगी|

साइंस भी लगातार रिसर्च करके गॉड को जानने की कोशिश में है| लेकिन जिसे हम परमात्मा कहते हैं| वह परम है पर है यानी हम सबकी सोच, विचार, कल्पना और आकार के भी पार है| हमने जो वर्ड क्रिएट किए हैं, जिनसे हम परमात्मा को पुकारते हैं, उसके आगे बहुत छोटे साबित होते हैं|

ईश्वर और धर्म को नहीं मानना तक भारत में धर्म माना गया है -दिनेश मालवीय


शब्द, वर्णन, व्याख्या कितनी अच्छी हो लेकिन परम-व्यापी के आगे सब बहुत छोटे हैं| परमात्मा की महिमा का वर्णन करने वाले वेद पुराणों ने भी आखिर में हाथ खड़े कर दिए और कहा कि हम जो भी कुछ कह रहे हैं वह भी परमात्मा का वर्णन नहीं हो सकता|


जैसे दो लकड़ियों को घिसने से आग पैदा होती है लेकिन वह पेड़ों में दिखाई नहीं देती| बिना मौजूदगी के वो कैसे जलेगी?

ईश्वर पिता है या माता?  जगत ईश्वर से बाहर है या उसके अंदर?  P ATUL VINOD


ऐसे ही परमात्मा हर जगह मौजूद है लेकिन दिखाई नहीं देता| किसी भी ग्रंथ में परमात्मा का भेद बताने का दावा नहीं किया गया|

परमात्मा को कैसे जानें? 

सब ने कहा कि वह शब्दों में समाहित नहीं हो सकता, वह आकार में अभिव्यक्त नहीं हो सकता| इसलिए आखिर में सभी धार्मिक किताबों ने कह दिया उसे जानना है तो स्वयं को जानो| क्योंकि वह हर जगह है तो आपके अंदर भी है| आपके बाहर भी है| जो ज्योतियों की परम ज्योति है| जो प्रकाश और अंधकार में भी है और इसके पार भी है| उस परमात्मा को जानने के लिए कहीं भी जाने की जरूरत नहीं है|

हम ईश्वर की पूजा क्यों करते हैं? क्या दूसरी दुनिया के लोग भी भगवान को मानते हैं? -अतुल विनोद 

क्या ईश्वर की भक्ति से दुःख दूर हो जाते हैं -दिनेश मालवीय

आपके अन्दर बाहर उपर नीच हर जगह होते हुए वह उससे पार भी है|

वह दूर भी है और शरीर में मौजूद होने के कारण सबसे करीब भी है|

इसलिए कहा है कि उसे ढूंढने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है|

परमात्मा को शास्त्र ज्योति स्वरूप बताते हैं| वो हमारे अंदर होते हुए भी हमारे पहुंच से परे क्यों हैं ?

“तुम हो एक अगोचर सबके प्राण पति”

तुम अगोचर हो सबसे प्राणों के पति हो लेकिन फिर भी दिखाई नहीं देते|

“किस विधि मिलूं दयामय तुमको मैं कुमति”




मैं तुमसे कैसे मिलूं बस इसी भाव को जगाए रखिए किसी न किसी दिन आप की सरलता, समर्पण, सच्चाई आपको अपने अंदर मौजूद उस परमात्मा ज्योति से रूबरू करा देगी|




atulyam : 7223027059






भगवान कौन है?
भगवान कौन है? 
भगवान क्या है? ईश्वर कौन है? बाइबिल के भगवान का अन्वेषण करेंहिंदू धर्म में भगवान कौन हैहिंदी में भगवान कौन हैआपके लिए भगवान कौन हैकैसे उत्तर दें कि भगवान कौन हैमेरे जीवन में भगवान कौन हैईसाई धर्म में भगवान कौन हैइस्लाम में भगवान कौन हैहमारे लिए भगवान कौन हैभगवान कहाँ है? मुश्किल समय में देखें कि परमेश्वर क्या मदद का वादा करता हैइस सब में भगवान कहाँ है?भगवान कहाँ है? - जीवन, आशा और सत्यहिन्दू धर्म में भगवान कहाँ हैइस्लाम में भगवान कहाँ हैभगवान जवाब कहां हैभगवान कहाँ है हिंदी मेंआज भगवान कहाँ हैअब भगवान कहाँ हैभगवान कहाँ पाया जाता हैभगवान कहाँ स्थित है

Who Is God?,Who Is God?

or, What Is God? Who Is God? Explore the God of The Bible ,
who is god in hinduism,
who is god in hindi,
who is god for you,
how to answer who is god,
who is god in my life,
who is god in christianity,
who is god in islam,
who is god for us,
Where Is God? In Difficult Times, See What Help God Promises
Where is God in all of this?,
Where Is God? - Life, Hope & Truth,

where is god in hinduism,
where is god in islam,
where is god answer,
where is god in hindi,
where is god today,
where is god now,
where is god found,
where is god located,

 

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ