EDITORDecember 23, 20201min42

हाथों और पैरों पर मेहँदी क्यों लगाते हैं?

मेहंदी अधिकतर शादियों में लगाई जाती है। मेहँदी लगाना एक कला है और हाथों व पैरों पर अलग-अलग डिजाइंस बनाना बड़ा ही मनमोहक लगता है। दूल्हे या दुलहन की अथवा परिवार के सभी सदस्यों के विशेष करके महिलाओं की सुंदरता में चार चाँद लग जाते हैं।

शास्त्रीय दृष्टिकोण : शास्त्रीय दृष्टिकोण से देखें तो विवाह अपनी संस्कृति में एक महत्त्वपूर्ण संस्कार माना गया है। महर्षि वेदव्यासजी के अनुसार 96 संस्कारों में से यह 14वाँ संस्कार है, जिसमें स्त्री और पुरुष गृहस्थाश्रम में प्रवेश करके एक नए जीवन की शुरुआत होती । इस संस्कार को अत्यंत महत्त्वपूर्ण माना गया है तथा इसे एक उत्सव के रूप में मनाया जाता है।

शादी की धूमधाम में रात का जागरण, तैयारियाँ, मेहमानों का आगमन आदि सभी बातों से एक प्रकार के टेंशन या मानसिक तनाव उत्पन्न करते हैं अत: मेहँदी लगाने से शरीर में ठंडक निर्माण होकर मानसिक तनाव से मुक्त होने में मदद मिलती है। मेहँदी हाथों और पैरों पर लगाई जाती है, जहाँ अपने तंत्रिकाओं के छोर (Nerve Endings) होते हैं। अत: मेहँदी शरीर में शीतलता प्रदान करके टेंशन कम करने में मदद मिलती है। साथ में मेहँदी में जंतुनाशक गुण(Antibacterial and Antifungus) भी पाए जाते हैं।


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ