तीसरी लहर का डर: एक हफ्ते में ऑनलाइन बिक्री 15% बढ़ी


Image Credit : ANI

स्टोरी हाइलाइट्स

तीसरी लहर में संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है, यही वजह है कि लोग सतर्क हो रहे हैं और बाजार में खरीदारी के बजाय ऑनलाइन खरीदारी को ज्यादा सुरक्षित मान रहें हैं, ताज़ा आकड़ो के अनुसार, बाजार में ऑनलाइन खरीदारी का चलन बढ़ा है...

कोरोना महामारी की तीसरी लहर में संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। हर दिन नए मामलें तेज़ी से बड़ रहें है। यही वजह है कि लोग सतर्क हो रहे हैं और बाजार में खरीदारी के बजाय ऑनलाइन खरीदारी को ज्यादा सुरक्षित मान रहें हैं। दूसरा कारण कोरोना संक्रमण के ख़तरे कों देखते हुए लगाई गई पाबंदियां हैं। इससे लोग लगातार घर में जरूरी चीजों का स्टॉक कर रहे हैं।

आवश्यक वस्तुओं की बिक्री बढ़ी :

भारत में कोरोना की तीसरी लहर तेज़ी से फैल रहीं हैं। 7 दिन में तेजी से कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। प्रतिबंध भी फिर से शुरू कर दिया गया है। रात के कर्फ्यू से लोगों की खरीदारी पर भी असर देखने को मिल रहा है। ताज़ा आकड़ो के अनुसार, बाजार में ऑनलाइन खरीदारी का चलन बढ़ा है। स्टोर और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से जरूरी सामान तेज़ी से बिक रहे हैं। पिछले 7 दिनों में रोजमर्रा के सामान की ऑनलाइन ऑर्डरिंग में 15% की बढ़ोतरी हुई है।

ऑनलाइन खरीदारी को मिल रहीं प्राथमिकता :

हर दिन नए मामले सामने आ रहे हैं, यही वजह है कि लोग सतर्क हो रहे हैं और बाजार में खरीदारी के बजाय ऑनलाइन खरीदारी को प्राथमिकता दे रहे हैं। दूसरा कारण बाजार खुलने के समय पर लगाई गई पाबंदियां हैं। मसलन दिल्ली में ऑड-ईवन नियम के मुताबिक रात 8 बजे तक बाजार खुला रहता है। यह एक कारण है कि लोग जरूरी सामान खरीदने के लिए ऑनलाइन खरीदारी को प्राथमिकता दे रहे हैं।

कंपनियों ने भी की तैयारी :

एक रिपोर्ट के मुताबिक, सभी कैटेगरी के ऑनलाइन सेल्स में 10-15 फीसदी का इजाफा हुआ है। साबुन, शैंपू, सफाई उत्पादों और चॉकलेट और पेय पदार्थों सहित कई अन्य वस्तुओं की बिक्री दोगुनी हो रही है। सेनिटाइजर, मास्क की बिक्री भी बढ़ रही है। तीसरी लहर के ख़तरे कों देखते हुए कंपनियों ने भी स्टॉक की तैयारी शुरू कर दी है।

24 घंटे में 90 हजार से ज्यादा नए केस :

पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 90,928 मामले सामने आए हैं। एक दिन पहले की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा मामले सामने आए हैं। ओमिक्रोन मामलों की संख्या बढ़कर 2630 हो गई है। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, तमिलनाडु और केरल में कोरोना के नए मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं। केवल इन 5 राज्यों में ही कुल मामलों का 67% हिस्सा है।