नए साल पर महाकाल की भस्म आरती नहीं कर पाएंगे श्रद्धालु, जानिये क्यों?


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

मंदिर समिति की वेबसाइट पर 25 दिसंबर से 5 जनवरी तक ऑनलाइन परमिशन ब्लॉक..!!

नए साल का आगाज बाबा महाकाल के आशीर्वाद के साथ करना कौन नहीं चाहता। यही कारण है कि नव वर्ष के मौके पर महाकाल के दरबार में श्रद्धालुओं की संख्या भी बढ़ जाती है। मगर इस बार आप नए साल में बाबा महाकाल की भस्म आरती में शामिल होना चाहते हैं तो आप को निराश होना पड़ सकता है।

इस बार उन भक्तों को मायूसी हाथ लगेगी, जो नए साल के पहले दिन या उसके आसपास के दिनों में भस्म आरती में  ऑनलाइन परमिशन के माध्यम से शामिल होना चाहते हैं। दरअसल मंदिर समिति की वेबसाइट पर 25 दिसंबर से 5 जनवरी तक ऑनलाइन परमिशन फूल हो चुकी है। हालांकि, भक्तों की सुविधा के लिए समिति ने चलित भस्म आरती की व्यवस्था की है।

मंदिर की वेबसाइट पर https://shrimahakaleshwar.com/bhasmarti पर आगामी 12 दिन के लिए परमिशन ब्लॉक है। हालांकि ऑनलाइन परमिशन नहीं मिलने से भक्तों को चलित भस्म आरती में निशुल्क प्रवेश मिलेगा। इसके लिए 25 दिसंबर से 5 जनवरी तक कार्तिक मंडपम को खाली रखकर चलित भस्म आरती की व्यवस्था की जाएगी, जिससे हजारों भक्त अल सुबह होने वाली भस्म आरती के दर्शन कर सकेंगे।

अभी कुल 1700 भक्त रोजाना नंदी हॉल, गणेश मंडपम और कार्तिक मंडपम में बैठकर भस्म आरती में शामिल होते हैं। जिसमें 400 भक्तों को ऑनलाइन दर्शन का लाभ मिलता है। नए साल पर बाबा के दरबार में रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है।  

इनमे से बड़ी संख्या में भक्तों ने मंदिर की वेबसाइट पर ऑनलाइन बुकिंग करा ली है। स्थान फुल होने के बाद अब श्रद्धालुओं को प्रतिदिन मंदिर के काउंटर से दी जाने वाली करीब 300 ऑफलाइन अनुमति के लिए लाइन में लगना होगा। इसके अलावा मंदिर समिति, प्रोटोकॉल के तहत प्रतिदिन एक हजार अनुमति जारी करेगी।