जावरा एसडीएम की किसानों से बद्सलूकी, वीडियो वायरल


Image Credit : X

रतलाम जिले के जावरा एसडीएम अनिल भाना का किसानों के साथ दुर्व्यवहार करने का वीडियो सामने आया है। किसान उनसे कह रहे हैं कि साहब, गलत शब्द मत बोलिए। प्यार-मोहब्बत से बात कीजिए।

जिस पर एसडीएम ने कहा, 'मैं 25 बार गालियां दूंगा, मेरे साथ तमीज से रहना, आप मुझे नहीं जानते।' उन्होंने एक किसान से यह भी कहा, 'समझेगा नहीं, कहां जाएगा?'

बताया जा रहा है, कि मामला सोमवार का है। बड़ायला चोरासी के किसानों ने यहां रेलवे, गुड्स यार्ड और एप्रोच रोड के दोहरीकरण का काम रोक दिया। वे अधिक मुआवजे और नये अंडरपास की मांग कर रहे थे। रेलवे अधिकारियों के साथ एसडीएम उन्हें समझाने पहुंचे।

मामले पर सफाई देते हुए एसडीएम अनिल भाना का कहना है, 'मैंने किसी भी तरह का दुर्व्यवहार नहीं किया। मेरे साथ रेलवे स्टाफ भी था। किसानों को समझाया तो वे गाली-गलौज करने लगे। वहां गांव का सरपंच भी था। मुआवजा भी दोगुना दिया जा रहा है। वीडियो सामने आने से पहले जरूर कुछ हुआ होगा।

वीडियो वायरल होने के बाद ये भी कहा जा रहा है, कि एसडीएम अनिल भाना पर किसानों के साथ दुर्व्यवहार करने के चलते पिछले चार अधिकारियों की तरह  एक्शन हो जाए। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को लेकर सख्त कार्रवाई की मांग भी की जा रही है।

बड़ायला चोरासी में रतलाम-नीमच रेलवे लाइन का दोहरीकरण किया जा रहा है। इसके लिए माल यार्ड को जावरा से 9 किमी दूर बड़ायला चोरासी में शिफ्ट किया जा रहा है। रेलवे ने गुड्स यार्ड के दोहरीकरण और वहां पहुंच मार्ग बनाने के लिए बड़ायला चोरासी के 27 किसानों की जमीन अधिग्रहित की है। किसानों ने गांव में काम करना बंद कर दिया है।

दरअसल बड़ायला चोरासी के किसानों का तर्क है कि हमें कम मुआवजा दिया जा रहा है। केवल भूमि रिटर्न की गणना की गई। जमीन पर कुआं, ट्यूबवेल, पेड़ या अन्य संरचना होने पर कोई मुआवजा नहीं मिलता है। इसलिए यह मायने रखता है।