CM मोहन का मंत्रिमंडल, सबसे ज्यादा वोट से जीते रमेश मैंदोला दरकिनार!


Image Credit : Facebook

स्टोरी हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री द्वारा राज्यपाल को सौंपी लिस्ट में 28 नाम होने की खबर है..!!

मध्यप्रदेश में डॉ. मोहन यादव सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार आज होने जा रहा है। शपथ ग्रहण समारोह दोपहर साढ़े 3 बजे राजभवन में होगा। मुख्यमंत्री द्वारा राज्यपाल को सौंपी लिस्ट में 28 नाम होने की खबर है। इनमें भोपाल से विधायक विश्वास सारंग और कृष्णा गौर के नाम हैं।  

बताया जा रहा है कि राजभवन में 18 कैबिनेट, 4 राज्यमंत्री और 6 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार की शपथ लेंगे। जिन विधायकों को मंत्री के रूप में शपथ लेना है उन्हें फोन पर सूचना देकर राजभवन में मौजूद रहने को कहा गया है। राजभवन में नए मंत्रियों के लिए 28 कुर्सियों की व्यवस्था भी की गई है।

इससे पहले सोमवार सुबह मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने सुबह राजभवन पहुंचकर राज्यपाल मंगुभाई पटेल को उन विधायकों के नाम सौंपे हैं, जो मंत्री के रूप में शपथ लेंगे। हालांकि अभी ये नाम आधिकारिक रुप से सामने नहीं आये हैं लेकिन जो नाम सामने आये हैं वो इस तरह हैं -

कैबिनेट मंत्री -

1-प्रदुम्न सिंह तोमर
2-तुलसी सिलावट
3-एदल सिंह कसाना
4-नारायण सिंह कुशवाहा
5-विजय शाह 
6-राकेश सिंह
7-प्रह्लाद पटेल
8-कैलाश विजयवर्गीय
9-करण सिंह वर्मा 
10-संपतिया उईके
11-उदय प्रताप सिंह
12-निर्मला भूरिया
13-विश्वास सारंग
14-गोविंद सिंह राजपूत
15-इंदर सिंह परमार
16-नागर सिंह चौहान
17--चैतन्य कश्यप
18-राकेश शुक्ला

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार )

19-कृष्णा गौर
20-धर्मेंद्र लोधी 
21-दिलीप जायसवाल 
22-गौतम टेटवाल
23- लेखन पटेल 
24- नारायण पवार

राज्यमंत्री -

25--राधा सिंह
26-प्रतिमा बागरी
27-दिलीप अहिरवार
28-नरेन्द्र शिवाजी पटेल

बड़ी बात यहाँ है कि पांच राज्यों में हुए चुनाव में सबसे ज्यादा मतों से जीत दर्ज करने वाले रमेश मेंदोला को भी कैबिनेट में स्थान नहीं मिलने की खबर है। विधानसभा चुनावों में इंदौर-2 क्षेत्र से  रमेश मेंदोला ने 1,07,047 मतों के विशाल अंतर से जीत दर्ज की थी। यह मप्र की सभी 230 विधानसभा सीटों पर किसी उम्मीदवार की जीत है।

इधर शपथ विधि समारोह के लिए जीएडी से  मंत्रियों को फ़ोन पहुँचना शुरू हो गए हैं। भोपाल से विश्वास सारंग और कृष्णा गौर को फ़ोन पहुँच चुका है। वहीं भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने बुंदेलखंड के प्रतिनिधित्व को दरकिनार कर दिया है। बुंदेलखंड के दिग्गज नेता गोपाल भार्गव, जयंत मलैया, भूपेंद्र सिंह, बृजेंद्र प्रताप सिंह फिलहाल मंत्रिमंडल की लिस्ट से बाहर बताये जा रहे हैं।