भोपाल: खनिज मंत्रियों का दूसरा सम्मेलन संपन्न, 29 खनिज ब्लॉकों की नीलामी में अव्वल आने पर MP को अवॉर्ड


Image Credit : X

स्टोरी हाइलाइट्स

इस मौके पर केंद्रीय खान मंत्रालय द्वारा "माइनिंग एंड बियोंड" विषय पर प्रदर्शनी भी लगाई गई। प्रदर्शनी में जियोलॉजिकल सर्वे आफ इंडिया, जिला खनिज प्रतिष्ठान सहित देश की प्रमुख खनन कंपनियों, निजी एजेंसियों और स्टार्ट-अप्स द्वारा अपनी उपलब्धियों को प्रदर्शित किया गया..!!

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के मुख्य आतिथ्य एवं केंद्रीय खनन मंत्री प्रह्लाद जोशी की अध्यक्षता में भोपाल में आयोजित द्वितीय राष्ट्रीय राज्य खनन मंत्रियों का सम्मेलन संपन्न हुआ। राज्यों के खनिज मंत्रियों का दूसरा सम्मेलन कुशाभाऊ ठाकरे सभागार परिसर, भोपाल में आयोजित किया गया । इस मौके पर केंद्रीय खान मंत्रालय द्वारा "माइनिंग एंड बियोंड" विषय पर प्रदर्शनी भी लगाई गई। प्रदर्शनी में जियोलॉजिकल सर्वे आफ इंडिया, जिला खनिज प्रतिष्ठान सहित देश की प्रमुख खनन कंपनियों, निजी एजेंसियों और स्टार्ट-अप्स द्वारा अपनी उपलब्धियों को प्रदर्शित किया गया। कार्यक्रम से पहले सीएम मोहन यादव ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

सीएम यादव ने विभागीय टीम के साथ कार्यक्रम में खनिज साधन विभाग, मध्य प्रदेश द्वारा भारत में 29 खनिज ब्लॉकों की नीलामी कर प्रथम स्थान प्राप्त करने पर अवॉर्ड प्राप्त किया।

इस मौके पर बोलते हुए सीएम डॉ. यादव ने कहा, संस्कार, संस्कृति, सभ्यता और संपदा की भूमि मध्यप्रदेश में देशभर के अलग-अलग सेक्टर से आए सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत एवं अभिनंदन करता हूं। 

आज का यह सम्मेलन निश्चित रूप से मध्यप्रदेश में खनन के क्षेत्र में बढ़ोतरी के लिए मील का पत्थर साबित होगा। सीएम ने गे कहा, केंद्रीय खनिज मंत्री प्रहलाद जोशी के नेतृत्व में खनन मंत्रालय की एक अलग पहचान बनी है।

केंद्रीय खान विभाग द्वारा भी समुद्र के अंदर के संसाधनों की खोज की गई है और इससे सभी राज्यों को लाभ हुआ है। सीएम ने कहा कि केन्द्र सरकार ने खनिज संपदा के क्षेत्र में निजी क्षेत्रों को शामिल कर नयी पहल की है। इससे नई संभावनाएं पैदा होंगी। हम खनन के क्षेत्र में उड़ीसा के नक्शेकदम पर चलने का प्रयास करेंगे। नीलामी नियमों के लिए ही हमें प्रथम पुरस्कार मिला। केंद्र सरकार की नई नीति के तहत यह संभव हो सका है।

सीएम डॉ यादव ने कहा कि केन्द्रीय खनन विभाग ने खनन क्षेत्र में विभिन्न खनन सम्भावनाओं को तलाश कर मप्र एवं अन्य राज्यों को विकास के अवसर दिये हैं। जहां उपजाऊ भूमि, घने जंगल, रत्न और संपदा है, मेरा मध्य प्रदेश स्वर-सौरभ-सुषमा से सुशोभित है। सीएम यादव ने कहा कि यह हमारे मध्य प्रदेश को भगवान का धन का उपहार है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में भारी मात्रा में लिथियम की खोज हुई है और इससे बड़े विकास की संभावना है। राज्य सरकार मप्र में लिथियम की खोज के लिए एजेंसियों के माध्यम से भी काम करेगी।