MP सरकार के दबंग मंत्री पर कसता जा रहा शिकंजा, वीडी शर्मा बोले गुंडागर्दी करना किसी का अधिकार नहीं


Image Credit : X

मध्य प्रदेश सरकार के दबंग मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल पर सरकार की ओर से शिकंजा कसता जा रहा है। मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के बेटे की गुंडागर्दी के मामले को लेकर अब प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वी. डी शर्मा का बयान सामने आया है।  उनका कहना है, कि गुंडागर्दी करना किसी का अधिकार नहीं, चाहे वह किसी भी पक्ष का हो,चाहे मैं खुद क्यों ना होऊं। जो भी गुंडागर्दी करेगा कानून उस पर कार्रवाई करेगा। 

चर्चा है, कि मंत्री के इस कदम के चलते उन पर अनुशासनात्मक कार्रवाही भी की जा सकती है।  मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के बेटे के ख़िलाफ़ FIR दर्ज कर ली गई है। हैरानी की बात ये है, कि अभिज्ञान की FIR में पिता का नाम और एड्रेस गायब है।

आपको बता दें मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य राज्य मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के बेटे ने भोपाल में हंगामा खड़ा कर दिया। इसके बाद मंत्री खुद थाने पहुंच गए और पुलिसकर्मियों को धमकाने लगे। इसके चलते वरिष्ठ अधिकारियों ने चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के इस कदम के चलते सीएम और संगठन ने मंत्री को कथित तौर पर फटकार लगाई।   

दरअसल, शनिवार रात को राज्य मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के बेटे अभिज्ञान पटेल ने भोपाल के गुलमोहर इलाके में जमकर हंगामा किया। उन्होंने रेस्टोरेंट के मैनेजर के साथ मारपीट की। इस पर स्थानीय लोगों और पुलिस कर्मियों ने मंत्री के बेटे की पिटाई कर दी। रेस्टोरेंट मैनेजर का आरोप है कि मंत्री का बेटा अपने दोस्तों के साथ नशे में था। बेटे की पिटाई की खबर सुनकर मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल दहाड़ते हुए शाहपुरा थाने पहुंचे।  

आपको बता दें, कि मंत्री का बेटा अभिज्ञान पटेल पहले से ही घटनास्थल पर अपने पिता के नाम से धमकी दे रहा था। बताया जा रहा है कि मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल ने भी थाने पहुंचकर अपनी ताकत दिखाना शुरु कर दिया। मंत्री वहां मौजूद पुलिसकर्मियों को वर्दी उतरवाने की धमकी दे रहे थे। टीआई के कहने पर भी वे आने के अंदर नहीं जा रहे थे। वरिष्ठ अधिकारियों के थाने पहुंचने के बाद उन्होंने बात की।  

उन्होंने कहा कि पुलिसवालों ने उनके बेटे को पीटा, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, रेस्टोरेंट संचालक का कहना है कि पहले मंत्री के बेटे और उसके दोस्त गुलमोहर स्थित अम्मा की रसोई के सामने कुछ लोगों की पिटाई कर रहे थे। इस दौरान रेस्टोरेंट मैनेजर और उनकी पत्नी बीच-बचाव में आए। इसके बाद मंत्री के बेटे और उसके दोस्तों ने रेस्टोरेंट मैनेजर की पिटाई शुरू कर दी। इसी बीच स्थानीय लोग भी आ गये। पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची और हंगामा करने वाले मंत्री के बेटे की पिटाई कर दी गई।