मज़बूरी का जोखिम, खटिया पर गर्भवती को पार कराई उफनती नदी 


Image Credit : TWITTER

स्टोरी हाइलाइट्स

यह  ऐसा पहला मामला नहीं है कि जब  ये लोग इस समस्या का  सामना कर रहे हैं, बल्कि हर साल बारिश में इलाके के लोगों को इसी तरह की स्थिति का सामना करना पड़ता है। 

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले से  एक हैरान करने वाला वीडियो सामने आया है। बैतूल ज़िले के विकासखंड शाहपुर के पावरझंडा पंचायत के जामुनढाना गांव  में  एक गर्भवती महिला को  खाट पर लिटाकर ग्रामीण उफनती नदी के पानी के बीच खटिया पर लिटाकर नदी पार कर रहे हैं, क्योंकि नदी पर पुल नहीं है। 

यह  ऐसा पहला मामला नहीं है कि जब  ये लोग इस समस्या का  सामना कर रहे हैं, बल्कि हर साल बारिश में इलाके के लोगों को इसी तरह की स्थिति का सामना करना पड़ता है। 

 नदी पर पुल न होने से लोगों को आने-जाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इसी दौरान बुधवार को रूपेश टेकाम की गर्भवती पत्नी को डिलीवरी के लिए अस्पताल ले जाना था, लेकिन नदी उफान पर थी। नदी पार करने के लिए पुल नहीं है। ऐसे में ग्रामीणों ने जान जोखिम में डालकर गर्भवती महिला को खटिया पर लिटाकर नदी पार कराकर एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। बुधवार की रात महिला की सुरक्षित डिलीवरी भी हो गई। 
 
आदिवासी  बाहुल्य बैतूल जिले के शाहपुर विकासखंड की ये तस्वीर ग्रामीण इलाकों के हालात को बयां करती है।  पुल निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीण पहले भी आवाज बुलंद कर चुके हैं, लेकिन समस्या अब भी जस की तस है। जयस ब्लॉक प्रवक्ता अंकुश कवड़े ने बताया की शासन और प्रशासन ग्रामीणों की समस्या की अनदेखी कर रहा है पूर्व में भी इस समस्या से प्रशासन को अवगत किया जा चुका है।