MP में ये 34 रेलवे स्टेशन बनेंगे वर्ल्ड क्लास, PM मोदी ने रखी पुनर्विकास की आधारशिला


स्टोरी हाइलाइट्स

Amrit Bharat Station Scheme: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखीं. जिसमें मध्यप्रदेश के 34 स्टेशन भी शामिल हैं..!!

Amrit Bharat Station Scheme: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय रेलवे एक नया इतिहास रचने जा रहा है. मतलब, राजधानी भोपाल के रानी कमलापति रेलवे स्टेशन की तर्ज पर ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैले हुए 1,300 स्टेशनों को भी वर्ल्ड क्लास बनाया जायेगा.

MP में ये 34 रेलवे स्टेशन बनेंगे वर्ल्ड क्लास-

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला भी रखीं. जिसमें, मध्य प्रदेश के 34 स्टेशन आमला जंक्शन, बनापुरा, बैतूल, ब्यावरा-राजगढ़, डबरा, दमोह, देवास जंक्शन, गाडरवारा, गंज बासौदा, घोड़ाडोंगरी, गुना जंक्शन, हरदा, इटारसी जंक्शन, जुन्नार देव, करेली, कटनी जंक्शन, कटनी मुड़वारा, कटनी साउथ, खजुराहो, मैहर, मुलताई, नर्मदापुरम, नेपानगर, पांढुरना, रीवा, रुठियाई जंक्शन, संत हिरदाराम नगर, सागर, शामगढ़, शिवपुरी, श्रीधाम, सीहोरा रोड, विदिशा, विक्रमगढ़ आलोट शामिल हैं.

PM मोदी ने 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखीं-

अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत पुनर्विकास के ये कार्यक्रम किये जा रहें हैं. इस योजना का बजट 24 हजार 470 करोड़ रुपये का है. इसमें पहले फेज में मध्यप्रदेश सहित अलग-अलग 508 रेलवे स्टेशनों पर काम किया जाएगा.

इन 508 स्टेशनों में उत्तर प्रदेश-राजस्थान में 55-55, बिहार में 49, महाराष्ट्र में 44, पश्चिम बंगाल में 37, मध्य प्रदेश में 34, असम में 32, ओडिशा में 25, पंजाब में 22, गुजरात-तेलंगाना में 21-21, झारखंड में 20, आंध्र प्रदेश-तमिलनाडु में 18-18 हरियाणा में 15, कर्नाटक में 13 स्टेशन हैं. इसके साथ ही चंडीगढ़ में 8, केरल में 5, दिल्ली, त्रिपुरा, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड में 3-3, वहीं हिमाचल प्रदेश, मेघालय, नागालैंड और पुडुचेरी में 1-1 स्टेशनों का कायाकल्प होना है.

अगले दो साल के अंदर ये स्टेशन पूरी तरह बदले नजर आएंगे. वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से तैयार किये जा रहें ये स्टेशन स्थानीय भारतीय कला और संस्कृति को भी निखारेंगे.