सत्ता में रहें या विपक्ष में, जनप्रतिनिधियों का लक्ष्य केवल विकास रहना चाहिए..


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

विधानसभा में प्रबोधन कार्यक्रम दूसरे दिन विधायकों को मिले टिप्स

मध्यप्रदेश विधानसभा में विधायकों का प्रबोधन कार्यक्रम दूसरे दिन बुधवार को भी जारी रहा। दूसरे दिन बजट पर होने वाली चर्चा को लेकर विधायकों को टिप्स दिए गए हैं। टिप्स में प्रदेश और देश के विकास को ही प्राथमिक लक्ष्य बताया गया। 

विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष एवं कांग्रेस के सीनियर विधायक डॉ. राजेंद्र सिंह के साथ ही लोकसभा के निदेशक पार्था गोस्वामी और विधानसभा के अपर सचिव वीरेंद्र कुमार ने विधायकों को बजट पर चर्चा के टिप्स दिए। वहीं विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने संसदीय प्रक्रियाएं और स्थगन, ध्यानाकर्षण संबंधी प्रक्रिया की जानकारी विधायकों को दी। 

अपने संबोधन में राजेंद्र सिंह ने कहा कि पहले सदन में जो शब्द प्रयोग होते थे वह आज नहीं हो रहे हैं। कोई दल जब विपक्ष में रहता है, तब दूसरी बात विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष डॉ. राजेंद्र सिंह का सम्मान करते विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह। करता है और जब सत्ता पक्ष में रहता है तब कुछ और बात करता है। लेकिन हमारा लक्ष्य सिर्फ विकास होना चाहिए। 

डॉ. राजेंद्र सिंह ने विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह को लेकर कहा कि उनका व्यक्तित्व प्रशांत महासागर जैसा गहरा और हिमालय जैसा ऊँचा है। उन्होंने मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव से भी खासी उम्मीद जताई। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि उन्होंने अर्जुन सिंह, प्रकाश चंद सेठी, श्यामाचरण शुक्ला जैसे धाकड़ मुख्यमंत्री देखे। अब डॉ. मोहन यादव से उन्हें खासी उम्मीद है।