बेतवा नदी के तट पर बसे ऐतिहासिक शहर ओरछा की स्थापना….


स्टोरी हाइलाइट्स

ओरछा: बेतवा नदी के तट पर स्थित ओरछा की स्थापना सोलहवीं शताब्दी में बुंदेला शासक रूद्र प्रताप ने की थी। उनके वंशजों में से एक राजा वीर सिंह बुंदेला ने भव्य जहांगीर महल का निर्माण करवाया था। 

ओरछा शब्द का अर्थ है 'छिपा हुआ महल', और अपने नाम के अनुरूप यह राजसी शहर देश के छिपे हुए खजाने में से एक है। भारत के मध्य राज्य मध्य प्रदेश में स्थित है.

The word ‘Orchha’ means ‘hidden palace’, and true to its name, this majestic city is one of the hidden treasures of the country. Located in the central state of India, Madhya Pradesh, 

बेतवा नदी के तट पर बसे ऐतिहासिक शहर ओरछा की स्थापना 16 वीं शताब्दी में बुंदेला राजपूत प्रमुख रुद्र प्रताप ने की थी। यहां, बेतवा नदी सात चैनलों में विभाजित होती है, जिसे सतधारा भी कहा जाता है। किंवदंती है कि यह ओरछा के सात तत्कालीन प्रमुखों के सम्मान में है। 

ओरछा का प्राचीन शहर समय के अनुसार थम गया है, इसके कई स्मारक आज भी अपनी मूल भव्यता को बरकरार रखे हुए हैं। यहां आपको कुछ सबसे आकर्षक मंदिर और महल मिलेंगे जो आपको बचपन की कल्पना को साकार करने में मदद करेंगे – समय में वापस यात्रा करना!

ओरछा: बेतवा नदी के तट पर स्थित ओरछा की स्थापना सोलहवीं शताब्दी में बुंदेला शासक रूद्र प्रताप ने की थी। उनके वंशजों में से एक राजा वीर सिंह बुंदेला ने भव्य जहांगीर महल का निर्माण करवाया था। 

यहां के प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं- राम राजा महल, राय प्रवीण महल, चतुर्भुज मंदिर और लक्ष्मी नारायण मंदिर। ओरछा में साल भर देशी विदेशी पर्यटकों का मजमा लगा रहता है। यहां बड़ी संख्या में धार्मिक पर्यटक यानि कि तीर्थ यात्री भी आते हैं। ओरछा में एक वर्ष में 36 लाख 98 हजार 233 पर्यटक आए, इनमें 36 लाख 29 हजार 660 भारतीय और 68 हजार 5 सौ 73 विदेशी थे।

रामराजा मंदिर

लाइट एंड साउंड शो

ओरछा शहर का रात का दृश्य

कैसे पहुंचें...

बाय एयर:

ओरछा के निकटतम हवाई अड्डा, ग्वालियर हवाई अड्डा (113 किलोमीटर) और खजुराहो हवाई अड्डा (155 किलोमीटर) है।

ट्रेन द्वारा:

ओरछा से निकटतम रेलवे जंक्शन झांसी है, जो 16 किलोमीटर दूर है। हालांकि ओरछा अपने आप में एक रेलवे स्टेशन है।

सड़क के द्वारा:

ओरछा झांसी, ग्वालियर और खजुराहो जैसी जगहों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इन जगहों से ओरछा पहुंचने के लिए आप टैक्सी या बस किराए पर ले सकते हैं।


 

पुराण डेस्क

पुराण डेस्क