MCD Result: आप को बहुमत..! 8 CM, 17 केंद्रीय मंत्री उतारे, फिर भी नहीं खिला कमल


स्टोरी हाइलाइट्स

करीब 10 साल पहले अस्तित्व में आई आम आदमी पार्टी को लेकर शायद ही किसी ने ऐसी कल्पना की हो कि इतने कम वक्त में वो राष्ट्रीय पार्टी पर छा जाएगी और आजादी से पहले देश में जड़ें जमाई हुई कांग्रेस की जगह लेने को तैयार खड़ी नजर आएगी..!

दिल्ली नगर निगम (Delhi MCD) चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की झाड़ू ने 15 साल के बीजेपी शासन को साफ़ कर दिया हैं. आप का दिल्ली विधानसभा से लेकर MCD तक पर कब्ज़ा हो गया है तो वहीं बीजेपी अब दिल्ली में विपक्ष की भूमिका में पहुंच गई है. कांग्रेस ने खाता तो खोला लेकिन चुनाव को त्रिकोणीय बनाने में सफल नहीं हुई. 

चुनाव में सीधी जंग बीजेपी और आप के बीच में ही थी. दोनों ही पार्टियों ने इस चुनाव में अपना पूरा दम-ख़म लगा दिया था. राष्ट्रीय पार्टी होने के बावजूद भी बीजेपी का पूरा केंद्रीय नेतृत्व और सभी बड़े चहरे सत्ता बचाने के लिए मैदान में उतर गए थे.

पीएम मोदी, अमित शाह से लेकर जेपी नड्डा तक दिल्ली की गलियों में कमल खिलाने के लिए लगे हुए थे. लेकिन कहते है न कि ‘कभी ख़ुशी तो कभी गम’ बिलकुल भारतीय लोकतंत्र की यहीं ख़ासियत है कि जनता ही तय करती है कि कब कौन सी पार्टी के दामन में खुशिया दस्तक देंगी. फ़िलहाल दिल्ली की जनता ने 15 साल के बीजेपी शासन को सत्ता से बाहर का रास्ता दिया है तो वहीं अब आम आदमी पार्टी जीत की ख़ुशी से साथ बीजेपी पर तंज कस रहीं है.

आप नेता संजय सिंह ने जीत के साथ बीजेपी की चुनावी रैलियों पर तंज कसते हुए कहा कि पीएम मोदी-अमित शाह-जेपी नड्डा और 8 CM, 17 केंद्रीय मंत्री, 400 सांसद तक लगाये लेकिन दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी को एक छोटी सी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने ध्वस्त कर दिया. इसके बाद भी BJP की बेशर्मी देखिये पिछले चुनाव के मुकाबले 70 सीट हार रहे हैं फिर भी अपनी हार स्वीकार नहीं कर रहे. बीजेपी कहती थी कि हमको अब तक नहीं हराया लेकिन अब इच्छा पूरी हो गई.

 

रुझानों में आप सबसे आगे-

दिल्ली MCD की 250 सीटों पर रुझान आ गए हैं. अभी तक के रुझानों में बीजेपी और आम आदमी पार्टी में कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है. वहीं अब धीरे-धीरे नतीजे भी सामने आने लगे हैं. आप ने 134 और बीजेपी ने 104 सीटों पर कब्जा कर लिया है. साथ ही कांग्रेस मात्र 9 सीटों पर सिमट गई है.