राममय होगा लखनऊ से अयोध्या का सफ़र, 446 करोड़ से संवरेगा हाई-वे


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

113 किलोमीटर के सफर को राममय बनाने की योजना..!

अयोध्या में जनवरी के चौथे सप्ताह से राममंदिर के दर्शन शुरू होने से पहले रामभक्तों की राह आसान बनाने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) करीब 446 करोड़ रुपये खर्च करेगा। इसके तहत लखनऊ से अयोध्या के हाईवे को इस तरह संवारा जाएगा कि यात्रा सुगम होने के साथ पूरा मार्ग राममय नजर आए। इसके लिए अलग-अलग जगहों पर अयोध्या के ऐतिहासिक महत्व और राममंदिर से जुड़े प्रतीक भी लगाए जाएंगे। 

सरकार ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। अधिकारियों का कहना है कि इसी महीने टेंडर प्रक्रिया पूरी कर सितंबर में काम शुरू कराने की तैयारी है। 113 किमी लंबे लखनऊ- अयोध्या 4 लेन हाईवे को नए सिरे से बनाने के अलावा डिवाइडर और साइड पटरी को भी ठीक कराया जाएगा।

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के पहले तल का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। तीन मंजिला इस भव्य मंदिर का निर्माण कार्य और अयोध्या का विकास ढाचा साल 2025 तक पूरा होने की उम्मीद है। आगामी वर्ष जनवरी 2024 में मकर संक्रांति के बाद भव्य और दिव्य मंदिर में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की स्थापित की जाएगी। राम जन्मभूमि मंदिर द्वितीय तल के निर्माण का कार्य भी तेजी से चल रहा है। 

जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मंदिर के द्वितीय तल के निर्माण की खूबसूरत और विहंगम तस्वीरें पिछले दिनों जारी की थीं। तस्वीरों में प्रथम तल के ऊपर द्वितीय तल के लिए पिलर का निर्माण होता दिखाई दे रहा है। भगवान रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तारीख अभी तय नहीं की गई है। हालांकि यह जरूर है कि मकर संक्रांति के बाद 15 जनवरी से 25 जनवरी के बीच किसी भी शुभ मुहूर्त में भगवान राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।