हिरासत में आरोपियों ने उगले सारे राज, कैसे ली अंकिता की जान..


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

वहीं पुलिस ने अंकिता के शव को ढ़ूंढने के लिए चीला नहर का पानी भी बंद कराया लेकिन शुक्रवार शाम तक उसका शव बरामद नहीं किया जा सका था..!

पांच दिनों से लापता अंकिता भंडारी की हत्या नहर में धकेल कर की गई थी। पुलिस ने मामले में यह खुलासा करते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज कर रिजॉर्ट के संचालक और पूर्व राज्यमंत्री के बेटे पुलकित आर्य और उसके दो मैनेजरों को गिरफ्तार कर लिया है। अंकिता का शव तलाशने के लिए पुलिस ने SDRF की मदद ली थी। 

वहीं पुलिस ने अंकिता के शव को ढ़ूंढने के लिए चीला नहर का पानी भी बंद कराया लेकिन शुक्रवार शाम तक उसका शव बरामद नहीं किया जा सका था। आखिरकार शनिवार की सुबह अंकिता का शव बरामद किया गया।

वहीं पुलिस की हिरासत में आते ही आरोपियों ने अंकिता की मौत का सारा सच उगल दिया है, कि कैसे ये लोग अंकिता पर रिसॉर्ट में आने वाले ग्राहकों से संबंध बनाने को कहते थे। और यही बात अंकिता सबको बताना चाहती थी। वो बार-बार रिजॉर्ट की हकीकत सबके सामने लाने की धमकी इन लोगों को दे रही थी। इसी बात को लेकर अंकिता से इनका विवाद चल रहा था। 

आरोपियों ने बताया कि घटना वाले दिन दो अलग-अलग वाहनों पर चारों लोग चीला बैराज के पास गए थे। वहां पर उन्होंने फास्टफूड के साथ शराब पी। इसके बाद आगे की ओर चले और नहर किनारे रुक गए।

यहां पर आगे जाकर पुलकित और अंकिता का फिर से झगड़ा होने लगा। इस बीच अंकिता ने पुलकित से उसका मोबाइल फोन छीनकर नहर में फेंक दिया। इस बात पर पुलकित को बहुत गुस्सा आ गया और उसने अंकिता को नहर में धक्का दे दिया। वहीं अंकिता ने दो बार पानी से ऊपर आकर बचाने के लिए आवाज भी लगाई। मगर, तीनों इस बात से काफी डर गए और वहां से भागकर वापस रिजॉर्ट में आ गए।

रिसॉर्ट में आकर उन्होंने कर्मचारियों को बताया कि अंकिता अपने कमरे में है। वहीं इसके कुछ देर बाद ही तीनों राजस्व पुलिस चौकी में अंकिता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने चले गए।  एएसपी ने बताया कि लंबी पूछताछ के बाद पुलकित आर्य, अंकित और सौरभ भास्कर को हत्या करने, साक्ष्य छुपाने जैसे आरोपों के चलते गिरफ्तार कर लिया गया।

आपको बता दें, कि पौड़ी गढ़वाल के नांदलस्यूं पट्टी के श्रीकोट निवासी अंकिता भंडारी (19) वनंत्रा रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम करती थी। वह गत 18 सितंबर को रहस्मय ढंग से लापता हो गई थी। रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य की ओर से उसकी गुमशुदगी राजस्व पुलिस चौकी में दर्ज कराई गई थी।