IND vs NZ कानपुर टेस्ट:52 गेंदों में न्यूजीलैंड का अंतिम विकेट नहीं ले सके भारतीय गेंदबाज, रचिन और पटेल ने मैच ड्रॉ कराया


स्टोरी हाइलाइट्स

कानपुर में खेला गया पहला टेस्ट मैच बड़े ही रोमांचक अंदाज में बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गया। मैच में कीवी टीम के सामने 284 रनों का टारगेट था, लेकिन उसने अंतिम दिन डटकर बैटिंग करते हुए मुकाबले को ड्रॉ करा लिया। मैच को ड्रॉ कराने में डेब्यू कर रहे रचिन रवींद्र और एजाज पटेल ने बड़ी भूमिका निभाई। रचिन ने 91 गेंदें खेली, जबकि एजाज ने भी विकेट बचाते हुए 23 गेंदों का सामना किया। आखिरी विकेट के लिए इस जोड़ी ने कुल 52 गेंदों का सामना किया।

 

दो भारतीयों के चलते नहीं जीत सकी टीम इंडिया
रचिन का जन्म 18 नवंबर 1999 को न्यूजीलैंड के वेलिंग्टन में हुआ था। उनके पिता का नाम रवि कृष्णमूर्ति और माता का नाम दीपा कृष्णमूर्ति है। न्यूजीलैंड में हट हॉक्स क्लब के संस्थापक रचिन रवींद्र के पिता रवि 1990 के दशक की शुरुआत में भारत से चले गए थे। वह पहले बेंगलुरु में रहते थे। वहीं, एजाज का जन्म 21 अक्टूबर 1988 को मुंबई में हुआ था। जब वे आठ साल के थे तो उनका परिवार न्यूजीलैंड शिफ्ट हो गया था।

आखिरी सेशन का रोमांच
अंतिम सत्र के खेल में टीम इंडिया को जीत के लिए 6 विकेट चटकाने थे और कीवी टीम को मुकाबला ड्रॉ करने के लिए 31.5 ओवर बैटिंग करनी थी। भारतीय गेंदबाजों ने आखिरी सत्र में कमाल का खेल दिखाया और 64.1 ओवर से लेकर 89.2 ओवर के बीच एक के बाद एक 5 विकेट चटकाए। हालांकि रचिन रवींद्र (4) और एजाज पटेल (2) ने 10वें विकेट के लिए 52 गेंदों पर नाबाद 10 रन जोड़कर भारत की जीत के सपने को पूरा नहीं होने दिया। जब भारतीय टीम आखिरी विकेट की तलाश में थी, तब कई बार खराब रोशनी के चलते मैच को रोकने पर अंपायरों को बातचीत करते देखा गया कुछ ओवर्स का खेल भी आगे बढ़ा, लेकिन अंत में कीवी टीम मैच ड्रॉ कराने में सफल रही।

  • दूसरी पारी में आर रवींद्र जडेजा ने 4 और अश्विन ने 3 विकेट लिए।
  • कानपुर में पिछले 3 मैचों में मिली जीत के बाद टीम इंडिया ने पहला ड्रॉ खेला।
  • भारत-न्यूजीलैंड के बीच ये 27वां ड्रॉ टेस्ट रहा।
  • अश्विन (58) NZ के खिलाफ सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय बने और बिशन सिंह बेदी (57) को पीछे छोड़ा।
  • अश्विन के हाथ लगा ब्लंडल का विकेट
    76वें ओवर की आखिरी गेंद पर टॉम ब्लंडल के खिलाफ LBW की अपील की गई, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। कप्तान रहाणे और अश्विन ने लंबी बातचीत के बाद रिव्यू लिया और रीप्ले में नजर आया कि गेंद लेग स्टम्प मिस कर रही थी। ब्लंडल नॉटआउट रहे। मगर अश्विन ने इसके बाद अपने अगले ही ओवर में ब्लंडल (2) को बोल्ड कर टीम इंडिया को 7वीं सफलता दिलाई। काइल जेमीसन (5) का विकेट रवींद्र जडेजा के खाते में आया। न्यूजीलैंड का 9वां विकेट जडेजा ने साउदी (4) को आउट कर चटकाया।

    टी-ब्रेक के बाद बदली मैच की तस्वीर
    टी-ब्रेक के बाद पहले ही ओवर में अक्षर पटेल ने हेनरी निकोल्स (1) को LBW कर कीवी टीम को 5वां झटका पहुंचाया। हालांकि निकोल्स ने DRS लिया, लेकिन रीप्ले में नजर आया कि गेंद मिडिल-ऑफ स्टम्प को हिट कर रही थी और हेनरी आउट हुए। टीम अभी इस झटके से उबर भी नहीं थी कि जडेजा ने केन विलियम्सन (24) को LBW आउट कर NZ की कमर तोड़कर रख दी।

  • केन विलियम्सन की ये 150वीं टेस्ट पारी रही।
  • कीवी कप्तान विलियम्सन ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 800 चौके भी पूरे किए।

    अश्विन ने बनाया रिकॉर्ड
    लाथम ने शानदार बैटिंग करते हुए 138 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की, लेकिन अर्धशतक के बाद ही अपना विकेट गंवा बैठे। लाथम (52) को अश्विन ने बोल्ड कर भारत को तीसरी सफलता दिलाई। इस विकेट के साथ ही आर अश्विन टीम इंडिया के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज भी बन गए हैं। उन्होंने हरभजन सिंह (417) का रिकॉर्ड तोड़ा। रवींद्र जडेजा ने NZ का चौथा विकेट चटकाया। उन्होंने रॉस टेलर (2) को LBW आउट किया। टेलर के विकेट के साथ ही टी-ब्रेक हो गया।

  • लाथम का ये 22वां और भारत के खिलाफ सातवां अर्धशतक रहा।
  • टॉम लाथम ने तीसरी बार एक टेस्ट की दोनों पारियों में 50+ का स्कोर बनाया।
  • अश्विन ने 7वीं बार टॉम लाथम का विकेट चटकाया।
  • तीसरे विकेट के लिए लाथम और विलियम्सन ने 39 रन जोड़े।

    लाथम ने खेली रिकॉर्ड पारी
    - साल 2010 के बाद टॉम लाथम भारत में एक टेस्ट की दोनों पारियों में 50+ स्कोर बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी बने। पहले शेन वॉटसन, मोहाली टेस्ट (126 और 56) का नाम आता है।

    - भारत में भारत के खिलाफ एक टेस्ट मैच में दोनों पारियों में 50+ रन बनाने वाले कीवी खिलाड़ी:

  • नाथन एस्टल (103 और 51*) अहमदाबाद, 2003
  • क्रेग मैकमिलन (54 और 83*) अहमदाबाद, 2003
  • टॉम लाथम (95 और 52) कानपुर, 2021*
  • उमेश ने कराई वापसी
    लंच के ठीक बाद पहली ही गेंद पर उमेश यादव ने विलियम सोमरविले (36) को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई। सोमरविले ने टॉम लाथम के साथ दूसरे विकेट के लिए 194 गेंदों पर 76 रन जोड़े। शुभमन गिल ने डीप फाइन लेग पर शानदार डाइव लगाते हुए विलियम का कैच पकड़ा। टीम इंडिया के लिए मैच में वापसी करने के लिए इस साझेदारी को तोड़ना बहुत जरूरी था।

    लाथम-सोमरविले ने बनाया रिकॉर्ड
    दूसरे विकेट के लिए सोमरविले और लाथम ने 31.1 ओवर तक बल्लेबाजी की। इसी के साथ ये जोड़ी भारत में चौथी पारी के दौरान दूसरे विकेट के लिए सबसे ज्यादा ओवर्स खेलने वाली दूसरी जोड़ी भी बन गई।

    साल 2000 के बाद से भारत में किसी भी विदेशी टीम द्वारा दूसरे विकेट के लिए खेले गए सबसे ज्यादा ओवर्स:

  • हाशिम अमला-तेंबा बाउमा: 38.4 ओवर, दिल्ली (2015)
  • टॉम लाथम-विल सोमरविले: 31.1 ओवर, कानपुर (2021)
  • मार्वन अट्टापट्टू-कुमार संगकारा: 30.2 ओवर, दिल्ली (2005)
  • इयान बेल-एंड्यू स्ट्रास: 20.4 ओवर, मोहाली (2008)

    भारत ने गंवाया रिव्यू
    19वां ओवर फेंक रहे रवींद्र जडेजा की चौथी गेंद पर लाथम के खिलाफ LBW की अपील हुई, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। भारत ने रिव्यू लिया है और रीप्ले में नजर आया कि गेंद की लेंथ ऑफ स्टंप से काफी बाहर की थी, वो पड़कर अंदर आई और पैड पर लगकर ऑफ साइड की ओर गई। लाथम नॉटआउट रहे और टीम इंडिया ने अपना रिव्यू गंवाया।

    इशांत शर्मा चोटिल
    5वें दिन की पहली ही गेंद पर इशांत शर्मा चोटिल हो गए। दरअसल, टॉम लाथम ने अश्विन की गेंद पर फाइन लेग की दिशा में सिंगल चुराया। इशांत शर्मा डाइव लगाकर गेंद रोकने के चक्कर में अपना उंगली चोटिल करा बैठे और बाद में मैदान से बाहर चले गए। इशांत कुछ समय तक मैदान से बाहर रहे।

    NZ ने रिव्यू में कर दी देरी
    न्यूजीलैंड की दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज विल यंग (2) का विकेट अजीबोगरीब तरीके से गिरा। दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर अश्विन ने विल के खिलाफ LBW की अपील की और अंपायर ने भी बिना देरी किए कीवी ओपनर को आउट करार दिया। यंग अपने साथी टॉम लाथम से बात कर रिव्यू लिया, लेकिन जब उन्होंने रिव्यू लेने का इशारा किया तब तक उनका समय खत्म हो गया था। रीप्ले में साफ नजर आया कि गेंद लेग स्टंप को छोड़ रही थी। यंग नॉटआउट थे। अंपायर वीरेंद्र शर्मा से बड़ी गलती हो गई थी।

    दोनों टीमें:

    IND: शुभमन गिल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (कप्तान), श्रेयस अय्यर, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, अक्षर पटेल, रविचंद्रन अश्विन, इशांत शर्मा, उमेश यादव।

    NZ: टॉम लाथम, विल यंग, केन विलियम्सन (कप्तान), रॉस टेलर, हेनरी निकोल्स, टॉम ब्लंडल (विकेटकीपर), रचिन रवींद्र, टिम साउथी, एजाज पटेल, काइल जेमीसन, विलियम सोमरविले।

साभार : दैनिक भास्कर