IND vs ENG 4th Test:  रांची टेस्ट में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को पांच विकेट से हराया, सीरीज़ पर कब्ज़ा


Image Credit : X

स्टोरी हाइलाइट्स

IND vs ENG: टीम इंडिया ने जीता रांची का रण, चौथे टेस्ट में इंग्लैंड को 5 विकेट से हराकर, सीरीज में 3-1 की बढ़त बना ली है..!!

IND vs ENG 4th Test: भारत और इंग्लैंड की टीमों के बीच 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा मैच रांची के झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया। मैच उतार-चढ़ाव से भरा रहा, लेकिन अंत में टीम इंडिया को जीत मिली। इस मैच में टीम इंडिया पहली पारी के बाद पिछड़ गई थी, लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने दूसरी पारी में जोरदार वापसी करते हुए मैच जीत लिया।

रांची टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम ने भारत को जीत के लिए 192 रनों का लक्ष्य दिया। जवाब में टीम इंडिया की शुरुआत शानदार रही। रोहित शर्मा और यशस्वी जयसवाल ने मिलकर 84 रन जोड़े। इसके बाद टीम इंडिया की पारी लड़खड़ा गई और 120 रन तक पहुंचने से पहले ही भारतीय टीम ने 5 विकेट खो दिए। लेकिन शुभमन गिल और ध्रुव जुरेल ने पारी को संभाला और टीम को जीत दिलाई। शुभमन गिल ने नाबाद 52 रन बनाए। इसके साथ ही ध्रुव जुरेल ने भी 39 रनों की नाबाद पारी खेली।

इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम ने 353 रन बनाए। जवाब में टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में सिर्फ 307 रन बनाए और 46 रन से पिछड़ गई. लेकिन दूसरी पारी में भारतीय गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। दूसरी पारी में आर अश्विन सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 51 रन देकर 5 विकेट लिए। जबकि कुलदीप यादव ने 22 रन देकर 4 विकेट लिए। टीम इंडिया के शानदार खेल की बदौलत इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में 145 रन पर ढेर हो गई।

मैच की पहली पारी में टीम इंडिया को 307 रन तक पहुंचाने में सबसे बड़ा योगदान ध्रुव जुरेल का रहा। जब वह पहली पारी में बल्लेबाजी करने आए तो भारतीय टीम 5 विकेट पर 161 रन बनाकर 192 रन से पीछे थी। लेकिन अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे ध्रुव जुरेल, ने कठिन परिस्थितियों में टीम को संभाला और 149 गेंदों में 90 रन बनाकर भारत को इंग्लैंड के कुल स्कोर के करीब पहुंचने में मदद की। ध्रुव जुरेल ने इस पारी के दौरान 6 चौके और 4 छक्के लगाए। हालांकि, वह शतक लगाने से चूक गए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित शर्मा ने भी अहम पारी खेली। इस मैच की दूसरी पारी में रोहित शर्मा ने 81 गेंदों में 5 चौकों और 1 छक्के की मदद से 55 रन बनाए। बतौर कप्तान उन्होंने मैच की आखिरी पारी में अपना पहला अर्धशतक लगाया और टीम की जीत को जीत दिलाई।