ज्ञानवापी केस: सुप्रीम कोर्ट ने वाराणसी कोर्ट के फैसले देने पर लगाई रोक, जानिए केस में फिर कब होगी सुनवाई


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

ज्ञानवापी केस में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने महज 5 मिनट तक हिंदू और मुस्लिम पक्षों की दलीलें सुनीं और ऑर्डर जारी किया..!

सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया कि इस मामले में वाराणसी लोअर कोर्ट कोई आदेश नहीं जारी करेगी..!

सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया कि इस मामले में वाराणसी लोअर कोर्ट कल तक कोई आदेश नहीं जारी करेगी। सुप्रीम कोर्ट में इस केस में शुक्रवार दोपहर 3 बजे फिर सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस पीएस नरसिम्हा की बेंच में 11 बजे सुनवाई शुरू हुई और 11:05 तक चली। 

मामले में मुस्लिम पक्ष ने याचिका दाखिल कर प्लेसेस ऑफ वर्शिप 1991 एक्ट का उल्लेख करते हुए सर्वे के कार्य पर रोक लगाने की मांग की है। मुस्लिम पक्ष की ओर से सुनवाई के दौरान कहा गया कि इस मामले में वाराणसी कोर्ट में रोज सुनवाई हो रही है और नित नए फैसले दिए जा रहे हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इसे रोकने के लिए हम सख्त निर्देश जारी कर रहे हैं। इधर हिंदू पक्ष ने कोर्ट में कहा कि हमने अभी हलफनामा दाखिल नहीं किया है, इसलिए और समय दिया जाए। इसके बाद कोर्ट की सुनवाई कल तक के लिए टाल दी गई। 

इस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को भी सुनवाई हुई थी। कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए 3 अहम निर्देश जारी किए थे। तब सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार और हिंदू पक्ष को नोटिस जारी कर कहा था कि गुरुवार को सभी पक्ष सुनवाई में मौजूद रहेंगे। हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने कहा था कि अभी हमने हलफनामा दाखिल नहीं किया है। हम कोर्ट से अतिरिक्त समय की मांग करेंगे। उन्होंने कहा था कि अभी नए घटनाक्रम हुए हैं, हम सभी अपडेट के साथ सुनवाई के लिए जाएंगे। पिछली सुनवाई के दौरान हिंदू पक्ष के वकील कोर्ट में ही बीमार हो गए थे, जिसकी वजह से वे सुनवाई में उपस्थित नहीं हो सके।

मंगलवार को जारी कोर्ट के निर्देश:

1. दावे के अनुसार शिवलिंग वाली जगह को सुरक्षित किया जाए।

2. मुस्लिमों को किसी भी हाल में अभी नमाज पढ़ने से न रोका जाए।

3. अब सिर्फ 20 लोगों के नमाज पढ़ने वाला ऑर्डर लागू नहीं किया जाएगा।