मुनव्वर राणा की अंतिम यात्रा में पहुंची कई बड़ी हस्तियां, जावेद अख़्तर ने दिया कांधा


Image Credit : X

स्टोरी हाइलाइट्स

किडनी फेल होने के कारण मुनवर का पिछले 2 साल से डायलिसिस चल रहा था..!!

शायर मुन्नवर राणा (71) को सोमवार सुपर्दे खाक कर दिया गया। मशहूर शायर के जनाज़े में कई बड़ी हस्तियों ने हिस्सा लिया। प्रसिद्ध लेखक जावेद अख्तर ने राणा के जनाज़े को कांधा भी दिया। अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए हैं। उन्हें ऐशबाग कब्रिस्तान में दफनाया गया। रविवार देर रात मुन्नवर राणा का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मुनव्वर को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचे। वह परिवार के साथ 8 मिनट तक रुके। बाहर आने के बाद उन्होंने कहा, ''उन्होंने लेखन के जरिए लोगों को जगाने का काम किया. लोग उनकी मां पर लिखी कविताओं को सुनते थे। कई मौकों पर उन्होंने अपने मन की बात भी कह दी, बिना ये सोचे कि इसका असर क्या होगा।'' पहले आजम खान ज्यादातर इसी घर में रहे थे। मुनव्वर से मेरा परिचय हुआ। उसके बाद सैफई समेत कई कार्यक्रमों में मेरी उनसे मुलाकात हुई। मैं प्रार्थना करता हूं कि भगवान परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे।

आपको बता दें कि किडनी फेल होने के कारण मुनवर का पिछले 2 साल से डायलिसिस चल रहा था। वह फेफड़ों की गंभीर बीमारी सीओपीडी से भी पीड़ित थे। हालत बिगड़ने पर उन्हें 9 जनवरी को पीजीआई के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। उन्होंने लखनऊ पीजीआई में आखिरी सांस ली। अपनी मां पर लिखी कविताओं के कारण वह लोगों के बीच काफी लोकप्रिय थे। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना तालिबान से की थीष।

मुनवर राणा की बिगड़ती सेहत को देखते हुए उनके बेटे तबरेज उन्हें दिल्ली एम्स में शिफ्ट करने जा रहे थे। शनिवार 13 जनवरी को एम्स में डॉक्टर से बात करने के बाद उन्होंने मुनव्वर में शिफ्ट होने की तैयारी शुरू कर दी। इसी बीच मुनव्वर की मौत की खबर सुनते ही वह लखनऊ से दिल्ली के लिए रवाना हो गये।