तपते बुखार में अयोध्या पहुंचीं उमा भारती, भक्ति में डूबी रामनगरी का बताया हाल


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

फायरब्रांड नेता उमा भारती ने व्यवस्थाओं को सराहा, हेल्थ अपडेट भी किया शेयर

BJP की फायरब्रांड नेता उमा भारती के भी रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होनी की उम्मीद है। कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए उमा भारती अयोध्या पहुंच चुकी हैं, लेकिन स्वास्थ्य खराब होने के चलते उन्होंने अब तक किसी से भी मुलाक़ात नहीं की है। 

अपने हेल्थ से जुड़े अपडेट उमा ने खुद अपने X हैंडल पर साझा किए हैं। उमा भारती ने पोस्ट शेयर करते हुए लिखा है.

भोपाल से 17 तारीख को चली और 18 की सुबह लखनऊ में उतरते ही जोर से बुखार आया। लखनऊ बहुत ठंडा है, इसीलिए 18 से लेकर 19 की शाम तक लखनऊ में ही रही, किसी से मिली नहीं। फिर मन नहीं मानता था इसलिए इस स्थिति में अयोध्या आ गई। यहां बहुत ठंड है इसीलिए बुखार की स्थिति में भी दवाई खाने से परिवर्तन नहीं हो रहा, ठीक होने की स्थिति तक में किसी से मुलाकात नहीं कर सकती। सभी लोग मुझे क्षमा करें। 

ऐसी कड़ाके की ठंड में भी असंख्य महान आत्माएं, साधु संत, नर नारी अयोध्या में विचरण कर रहे हैं, सरकार की तरफ से व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं रखी गई है लेकिन लोग तो राम भक्ति के आनंद में डूबे हुए हैं सब तरफ से सीताराम सीताराम या राम धुन ही सुनाई दे रही है। लगातार 500 साल तक चले किसी अभियान का ऐसा अद्भुत, गौरवपूर्ण एवं आनंदपूर्ण समारोप सृष्टि में कभी नहीं हुआ होगा। इन 500 सालों में शुरू से अभी तक जिनका भी योगदान रहा उनका भूरी भूरी नमन।

हाल ही में वरिष्ठ नेत्री ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वालों में अयोध्या जाने की हिम्मत नहीं है, और वे वहां जाने के लायक नहीं हैं। कांग्रेस द्वारा 22 जनवरी को अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के निमंत्रण को अस्वीकार करने के बारे में पूछे जाने पर उमा भारती ने कहा कि, ‘‘वो उस लायक नहीं कि वहां आते।’’

भाजपा नेत्री ने कहा, ‘‘उन्होंने (कांग्रेस) राम को खारिज कर दिया। उन्होंने उच्चतम न्यायालय में एक हलफनामे में उनके अस्तित्व से इनकार किया और कहा कि राम का अस्तित्व ही नहीं है। वह हलफनामा ऐसा था, कि उनके (कांग्रेस) पास वहां (अयोध्या) जाने का साहस नहीं है।’’