Guru Purab: सिख समुदाय के दसवें गुरु गोविंद सिंह की जयंती आज

Guru Purab: सिख समुदाय के दसवें गुरु गोविंद सिंह की जयंती आज
सिख धर्म के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती आज है। सिख समुदाय, गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती को बड़े उत्साह के साथ मनाता हैं। इस दिन गुरुद्वारों में कीर्तन और गुरुवाणी का पाठ किया जाता है। इस दिन सिख समुदाय के लोग लंगर का आयोजन भी करते है।

बलिदानी परम्परा में गुरु गोविंद सिंह जी अद्वितीय थे, वे स्वयं एक महान लेखक, संस्कृत सहित कई भाषाओं को जानने वाले भी थे। गुरु गोविंद सिंह जी ने कई ग्रंथों की रचना की। उनके दरबार में कवियों तथा लेखकों की उपस्थिति रहती थी, गुरु गोविंद सिंह जी भक्ति तथा शक्ति के अद्वितीय संगम थे।

Guru Govind Singh ji Newspurna

गुरु गोविंद सिंह जी का जन्म नौवें सिख गुरु तेगबहादुर जी और माता गुजरी के घर पटना में 22 दिसंबर 1666 को हुआ था। जब वह पैदा हुए थे उस समय उनके पिता असम में धर्म उपदेश को गये थे। उनके बचपन का नाम गोविन्द राय था। पटना में जिस घर में उनका जन्म हुआ था और जिसमें उन्होने अपने प्रथम चार वर्ष बिताये थे, वहीं पर अब तखत श्री पटना साहिब स्थित है।

उन्होंने सन 1699 में बैसाखी के दिन खालसा जो की सिख धर्म के विधिवत् दीक्षा प्राप्त अनुयायियों का एक सामूहिक रूप है उसका निर्माण किया। उसके बाद गुरु गोबिंद जी ने एक लोहे का कटोरा लिया और उसमें पानी और चीनी मिला कर दुधारी तलवार से घोल कर अमृत का नाम दिया।

5 खालसा के बनाने के बाद गुरु गोविंद सिंह जी को छठवां खालसा का नाम दिया गया। उन्होंने पांच ककारों का महत्व खालसा के लिए समझाया और कहा – केश, कंघा, कड़ा, किरपान, कच्चेरा

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ