भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल:- डल झील

भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल:- डल झील

जम्मू-कश्मीर राज्य का सबसे बड़ा शहर 'श्रीनगर' झेलम नदी के दोनों किनारों पर फैला हुआ है। देवलोक सरीखा या शहर समुद्र तल से 1768 मीटर ऊंचाई पर स्थित है। चौथी व पांचवी शताब्दी में मुगलकालीन शासकों ने इस शहर में खूबसूरत झीलो, चारों व कलात्मक इमारतो का निर्माण करवाकर इसकी खूबसूरती में चार चांद लगाए थे। यहां आकर पर्यटकों को ऐसा महसूस होता है जैसे वे इंद्रलोक' में आ गए हैं यह शहर अपनी नगीन और डल जैसी मनोरम झीलों के लिए विश्व-भर में प्रसिद्ध है। डल झील अपनी सुंदरता और तीर्थयात्रा केंद्र के लिए भी प्रसिद्ध है। प्रसिद्ध होने के साथ ये झील श्रीनगर के रहने वाली जनता की जीवन दयेनी भी है|बहुत से परिवार इसी झील में रहते हैं|    



यह झील श्रीनगर शहर के पूर्व में श्रीधरा पर्वत के चरणों में स्थित है। डल झील एक छोटी सी मध्यम ऊंचाई वाली झील (समुद्र तल से 1,775 मीटर ऊपर) है| जो कि कांगड़ा हिमाचल प्रदेश में मैकलोडगंज नड्डी रोड पर तोता रानी के गांव के पास धर्मशाला से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है| डल झील मक्लोटगंज से पश्चिम की ओर 2 किमी है। झील देवदार के हरे-भरे वनों के बीच का घिरी हुई है, डल झील के आसपास का क्षेत्र प्राकृतिक स्वर्ग है। एक समय था जब यह झील विश्व की सुंदरतम झीलों में से एक मानी जाती थी, लेकिन आज इसका सौंदर्य ख़त्म-सा हो गया है|



 कभी यह झील 25 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में पैली हुई थी, लेकिन अब इसका छेत्रफल मात्र 12 वर्ग किलोमीटर रह गया है इस झील की सबसे बड़ी खासियत वहां के साउस थॉट' व 'शिकारे' है। यहां हाउस बोट में रहने तथा शिकारे द्वारा पूरी डल झील की सैर करने का अपना ही मजा है। डल झील के किनारे पर एक प्रसिद्ध भगवान शिव मंदिर स्थित है, जिसे बहुत पवित्र माना जाता है और 200 वर्ष पुराना है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, दुर्वास नामक ऋषि ने यहां भगवान शिव की उपासना की थी।

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ