MP: मुआवजा लेने के बाद भी किसान नहीं बनने दे रहे नई रेल लाईन.. डॉ. नवीन जोशी

MP: मुआवजा लेने के बाद भी किसान नहीं बनने दे रहे नई रेल लाईन.. डॉ. नवीन जोशी
Dr. Navin joshiभोपाल: प्रदेश के राजगढ़ जिले में नेवज नदी पर स्थित मोहनपुरा वृहद सिंचाई परियोजना का बांध वर्ष 2017-18 में तो बन गया है परन्तु पचौर एवं ब्यावरा में गुना-मक्सी रेल लाईन का 2.70 किमी हिस्सा डूब में आ रहा है तथा पिछले दो सालों से इस रेल लाईन को शिफ्ट नहीं किया जा सका है, क्योंकि किसान नया रेल मार्ग बनने नहीं दे रहे हैं। इसके कारण मोहनपुरा बांध में जलभराव स्तर 393 मीटर रखना पड़ रहा है जबकि यह 398 मीटर होना चाहिये।


जल संसाधन विभाग के प्रमुख अभियंता मदन सिंह डाबर के अनुसार, 3 हजार 866 करोड़ 34 लाख रुपयों की लागत से बनी इस परियोजना से राजगढ़ जिले में कुल 1 लाख 45 हजार 661 हैक्टेयर क्षेत्र में दाबयुक्त सिंचाई होना है जबकि वर्तमान में 25 हजार 600 हैक्टेयर में ही दाबयुक्त सिंचाई हो रही है। डूब में आ रही रेल लाईन की शिफ्टिंग में 6.50 किमी लम्बा नया रेल मार्ग बनाया जा रहा है। इसमें नेवज नदी की शाखा नदी दूधी पर 880 मीटर लम्बाई का ब्रिज निर्माण भी शामिल है। इस ब्रिज में कुलज 26 पियर हैं जिसमें से वर्तमान में 23 का निर्माण केप लेवल तक हो चुका है। शेष 2 पियर में पाईप केप डाली जा चुकी है एवं एक पियर में पाईलिंग का कार्य प्रगति पर है।



रेल्वे द्वारा बनाये जा रहे नये रेल मार्ग में 4 गांवों में से हाथीकुमारा एवं माधोपुरा में कार्य प्रगति पर है किन्तु ग्राम परसूलिया एवं समेली में भू-अर्जन अवार्ड पारित तथा मुूआवजा भुगतान होने के बाद भी किसानों द्वारा रेल्वे को कार्य नहीं करने दिया जा रहा है। इसके लिये रेल्वे एवं जल संसाधन विभाग को संयुक्त रुप से राजस्व विभाग के अधिकारियों एवं राजगढ़ कलेक्टर से सम्पर्क कर समस्या के निराकरण के निर्देश दिये गये हैं।


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ